Hindi News »Madhya Pradesh »Thikari» बांके बिहारी गोशाला | पशु डॉक्टरों को किया नियुक्त, रोजाना कर रहे स्वास्थ्य जांच, गायों को मिलने लगा हरा चारा

बांके बिहारी गोशाला | पशु डॉक्टरों को किया नियुक्त, रोजाना कर रहे स्वास्थ्य जांच, गायों को मिलने लगा हरा चारा

15 दिन में गोशाला से जुड़े 31 नए आजीवन सदस्य भास्कर संवाददाता, ठीकरी नगर के बांके बिहारी गोशाला में 1 अप्रैल को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 05:05 AM IST

15 दिन में गोशाला से जुड़े 31 नए आजीवन सदस्य

भास्कर संवाददाता, ठीकरी

नगर के बांके बिहारी गोशाला में 1 अप्रैल को नई कार्यकारिणी का गठन हुआ था। इसमें नए सदस्यों को जोड़ा गया। नए अध्यक्ष की नियुक्ति की गई। नई कार्यकारिणी बनने के बाद से ग्रामीणजनों का गोशाला पर विश्वास बढ़ा है। नए सदस्य रोजाना गोशाला से जुड़ रहे हैं। गोशाला में आजीवन सदस्य बनने के लिए 11 हजार रुपए का शुल्क रखा गया है। इन 15 दिनों में 31 व्यक्तियों ने बांके बिहारी गोशाला की आजीवन सदस्यता ग्रहण की है। इसके माध्यम से 3 लाख 31 हजार रुपए एकत्रित किए हुए हैं। अब तक गोशाला के 150 नए सदस्य बन चुके हैं।

गोशाला से जुड़े नए सदस्य रोजाना सुबह गोशाला में जाकर स्थिति देख रहे हैं। साथ ही अपने हाथों से सभी गायों को हरा चारा खिला रहे हैं। गोशाला कार्यकारिणी की प्रेरणा पर ग्राम पंचायत ठीकरी के माध्यम से पिछले 3 दिन से ग्राम में आवारा घूम रही गायों व पशुओं को पकड़कर गोशाला में भेजा जा रहा है। पशु मालिकों को चेतावनी दी जा रही है कि अपने पशु अपने घर में सुरक्षित बांधकर रखें। नई कार्यकारिणी बनने के बाद इन 15 दिन में गोशाला में अतिरिक्त पड़ी जमीन को उपजाऊ बनाकर यहां पर गायों के लिए हरा चारा उगाया जा रहा है।

गोशाला में गायों को चारा खिलाते गोशाला समिति सदस्य।

पारदर्शिता के लिए गोशाला में एकत्र खाद की होगी नीलामी

बांके बिहारी गोशाला समिति के अध्यक्ष सुमित जायसवाल ने बताया है कि पारदर्शिता रखने के लिए गोशाला में एकत्रित खाद को नीलामी के माध्यम से बेचा जाएगा। जो अधिक बोली लगाएगा उसे खाद दे दिया जाएगा। खाद से प्राप्त रुपयों को गोशाला की व्यवस्थाओं पर खर्च किया जाएगा। यहां गायों के लिए पानी के और हौज बनाए जाएंगे। साथ ही गोशाला की भूमि पर हरा चारा उगाया जाएगा। ताकि गायों के लिए हरा चारा मिल सके।

400 क्विंटल गेंहू का भूसा व 200 क्विंटल मसूर का भूसा कर रहे जमा

बांके बिहारी गोशाला में गायों के लिए पिछले 15 दिन से ग्राम के किसानों से गेहूं का भूसा दान में लिया जा रहा है। गोशाला समिति इसके अतिरिक्त भी किसानों से गेंहू व मसूर का भूसा खरीद रही है। 600 क्विंटल भूसा एकत्रित करने का लक्ष्य रखा गया है। भूसा के अलावा भी ग्रामीण जन गेहूं, बाजरा, ज्वार व अन्य आहार गोशाला में दान कर रहे हैं। ताकि गायों को सालभर पर्याप्त चारा पानी मिल सके।

गायों के स्वास्थ्य जांच के लिए डॉक्टरों को किया नियुक्त

गोशाला समिति के माध्यम से गोशाला की गायों के स्वास्थ्य की जांच के लिए पशुओं के डॉक्टरों को नियुक्त किया गया है। ये डॉक्टर रोजाना एक बार गोशाला में आकर निरीक्षण करेंगे। व किसी भी प्रकार की समस्या या बीमारी होने पर उनका उपचार करेंगे। गोशाला समिति ने इसके लिए अतिरिक्त फंड की व्यवस्था कर रखी है। इसे गायों के स्वास्थ्य पर खर्च किया जाएगा। गायों का समय पर जांच व इलाज होगा।

15 दिन में सदस्यों के माध्यम से 3लाख रुपए एकत्र हुए हैं

बांके बिहारी गोशाला की नई कार्यसमिति बनने के बाद से 15 दिन में 31नए आजीवन सदस्य बनाए गए हैं। सदस्यों के माध्यम से 3लाख रुपए एकत्र किए गए हैं। इन रुपयों से गोशाला में विभिन्न सुविधाएं जुटाई जाएगी। सुमित जायसवाल, अध्यक्ष बांके बिहारी गोशाला समिति।

पानी की भी की गई है व्यवस्था

गोशाला में गायों को पानी पीने के लिए हौज बनाए गए हैं। इनमें सुबह शाम ट्यूबवेल के माध्यम से पानी भरा जा रहा है। ताकि गायों को 24घंटे पानी उपलब्ध रह सके। समिति सदस्य स्वयं गोशाला पहुंचकर सुबह शाम गायों के चारा पानी का इंतजाम कर रहे हैं। साथ ही डॉक्टरों के माध्यम से गायों के स्वास्थ्य की भी जांच की जा रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Thikari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×