• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Tikamgarh
  • स्वास्थ्य कर्मियों ने संविदा नीति की होली जलाई, विभाग ने अन्य जिलों से नर्स बुलाईं
--Advertisement--

स्वास्थ्य कर्मियों ने संविदा नीति की होली जलाई, विभाग ने अन्य जिलों से नर्स बुलाईं

Tikamgarh News - संविदा स्वास्थ्य संघ की चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल के 11वें दिन कर्मियों ने अस्पताल चौराहे पर संविदा नीति की होली...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 05:50 AM IST
स्वास्थ्य कर्मियों ने संविदा नीति की होली जलाई, विभाग ने अन्य जिलों से नर्स बुलाईं
संविदा स्वास्थ्य संघ की चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल के 11वें दिन कर्मियों ने अस्पताल चौराहे पर संविदा नीति की होली जलाई। इससे पहले संविदा कर्मी भोपाल में हो रहे आंदोलन में शामिल हुए थे, लेकिन मांगे पूरी नहीं हुई।

अस्पताल चौराहे पर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मियों का प्रदर्शन लगातार जारी बना हुआ है। धरने के 11वें दिन कर्मियों ने होली पर्व का त्यौहार न मनाने का निर्णय लेकर संविदा नीति की होली जलाई। जिलाध्यक्ष नितिन तिवारी ने बताया कि संविदा नीति के कारण हम सब शोषण के शिकार है। यह एक बुराई का रूप है जो हम सब को मिलकर दूर करना होगा। उन्होंने कहा कि जिले का कोई भी संविदा स्वास्थ्य कर्मी इस बार होली नहीं मनाएगा। क्योंकि सरकार की नीति से हमारा शोषण हो रहा है। हमारी अब सिर्फ दो मांगें है नियमितीकरण और निष्कासित की वापसी की जाए। जिसको लेकर लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है। इस दौरान दीलीप तिवारी, आदित्य तिवारी, अनुपम दीक्षित, सुनील द्विवेदी, प्रदीप राय, शैलेंद्र पटैरिया मौजूद थे।

भोपाल पहुंचकर प्रदर्शन में हुए शामिल : संविदा स्वास्थ्य कर्मी जिले भोपाल के लिए रवाना हुए थे। जहां सीएम से मुलाकात के दौरान उन्होंने धरना समाप्त करने की बात कही। लेकिन स्वास्थ्य कर्मियों का कहना था कि पहले मांगों को पूरा किया जाएगा। इसके बाद धरना समाप्त होगा। जिले में वापस लौटने के बाद संविदा स्वास्थ्य कर्मी फिर हड़ताल पर डट गए।

अन्य जिले से बुलवाई स्टाफ नर्स : संविदा स्वास्थ्य कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से जिले भर की स्वास्थ्य सेवा गड़बड़ा गई थी। जिसके लिए अन्य जिलों की स्टाफ नर्स को टीकमगढ़ बुलवाया गया। जिला अस्पताल से लेकर ब्लाक में स्वास्थ्य सेवाओं की पूर्ति नहीं होने से स्वास्थ्य विभाग ने अन्य जिलों की स्टाफ नर्स को अटैच कर दिया है। जो गुरूवार को टीकमगढ़ पहुंची। जिले की बिगड़ती स्वास्थ्य व्यवस्था को पटरी पर लाया जाएगा।

टीकमगढ़। संविदा स्वास्थ्य कर्मियों ने जलाई सविंदा की होली। किया प्रदर्शन।

मेडिकल संघर्ष समिति के सदस्यों ने बैठक करके अपने-अपने सवाल रखे, आंदोलन की बनाई रूपरेखा

टीकमगढ़। मेडिकल संघर्ष समिति बैठक में की चर्चा।

टीकमगढ़। मेडिकल संघर्ष समिति के सदस्यों ने गुरूवार को एक बार फिर बैठक करके अपने-अपने सवाल रखे।

समिति का कहना है कि बदहाल और बेहाल स्वास्थ्य सुविधाओं के कारण जनभावनाओं को देखते हुए केंद्रीय मंत्री उमा भारती, जिले के प्रभारी स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह के द्वारा टीकमगढ़ में मेडिकल कॉलेज खोलने का मंच से एेलान किया गया था। आश्वासन का सरकार आम जनता का सपना तोड़ रही है। क्या यह भी जनप्रतिनिधियों की जनता के साथ कि जाने वाली जुमलेबाजी रह गई। जिसको लेकर मेडिकल खोलने के लिए संघर्ष समिति ने आंदोलन को और प्रभावी बनाने का निर्णय लिया है।

इस दौरान समिति के पुष्पेंद्र सिंह चौहान, कय्यूम अली चीनी, स्वप्निल मिश्रा, उमेर खान, जितेंद्र यादव, अशरफ खान, सलमान खान सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

X
स्वास्थ्य कर्मियों ने संविदा नीति की होली जलाई, विभाग ने अन्य जिलों से नर्स बुलाईं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..