• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Timarni
  • तय मानकों से संचालित नहीं होने पर कलेक्टर ने रोकी लोकसेवा केंद्रों की वीजेएफ राशि
--Advertisement--

तय मानकों से संचालित नहीं होने पर कलेक्टर ने रोकी लोकसेवा केंद्रों की वीजेएफ राशि

Dainik Bhaskar

Mar 29, 2018, 05:25 AM IST

Timarni News - निर्धारित मानकों के लोकसेवा केंद्र संचालित नहीं होने पर कलेक्टर अनय द्विवेदी ने फरवरी माह की वीजेएफ राशि रोक दी...

तय मानकों से संचालित नहीं होने पर कलेक्टर ने रोकी लोकसेवा केंद्रों की वीजेएफ राशि
निर्धारित मानकों के लोकसेवा केंद्र संचालित नहीं होने पर कलेक्टर अनय द्विवेदी ने फरवरी माह की वीजेएफ राशि रोक दी है। तय लक्ष्य से कम आवेदन मिलने पर शासन केंद्र संचालकों को प्रति आवेदन 30 रुपए वीजेएफ राशि देता है। इस राशि पर रोक लगा दी है। जानकारी के मुताबिक जिला स्तर पर 2000 व विकासखंड स्तर पर 1000 आवेदन लोक सेवा केंद्रों पर आने चाहिए। लेकिन केंद्रों पर अधिसूचित सेवाओं के लक्ष्य के अनुसार आवेदन नहीं मिल रहे हैं। इससे नाराज कलेक्टर ने वीजेएफ राशि रोक दी है। प्रभारी अधिकारी लोकसेवा प्रबंधन विभाग प्रियंका गोयल ने बताया लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम 2010 के जिले में संचालित लोकसेवा केंद्र खिरकिया, हरदा, टिमरनी, हंडिया, सिराली एवं रहटगांव में निर्धारित संख्या में आवेदन नहीं प्राप्त किए गए। इसके कारण यह कार्रवाई की गई है।

क्या है वीजेएफ राशि

शासन स्तर से जिला व विकासखंड स्तर पर लोक सेवा केंद्रों पर अधिसूचित सेवाओं के आवेदन प्राप्त करने का लक्ष्य निर्धारित है। लक्ष्य से कम आवेदन मिलने पर केंद्र संचालक को 30 रुपए प्रति आवेदन के मान से शासन से भुगतान होता है। इसमें 5 रुपए ई-गवर्नेंस के भी शामिल हैं। उदाहरण के तौर पर 2000 के लक्ष्य के एवज में केंद्र पर 1500 आवेदन मिलते हैं तो संचालक काे 500 आवेदनों की वीजेएफ राशि 30 रुपए के मान से शासन से मिलेगी।

X
तय मानकों से संचालित नहीं होने पर कलेक्टर ने रोकी लोकसेवा केंद्रों की वीजेएफ राशि
Astrology

Recommended

Click to listen..