टिमरनी

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Timarni News
  • जनपद अध्यक्ष निधि राजपूत के भाग्य का फैसला 13 को, 14 जनपद सदस्य रहेंगे मौजूद
--Advertisement--

जनपद अध्यक्ष निधि राजपूत के भाग्य का फैसला 13 को, 14 जनपद सदस्य रहेंगे मौजूद

जनपद पंचायत अध्यक्ष निधि राजपूत के भाग्य का फैसला 13 मार्च को होगा। इस दौरान सभागृह में दोपहर 1 बजे अविश्वास...

Dainik Bhaskar

Mar 10, 2018, 05:50 AM IST
जनपद अध्यक्ष निधि राजपूत के भाग्य का फैसला 13 को, 14 जनपद सदस्य रहेंगे मौजूद
जनपद पंचायत अध्यक्ष निधि राजपूत के भाग्य का फैसला 13 मार्च को होगा। इस दौरान सभागृह में दोपहर 1 बजे अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की जाएगी। साथ ही जरूरत पड़ने पर वोटिंग भी कराई जाएगी। इसके लिए कलेक्टर अनय द्विवेदी ने एसडीएम पीके पांडे को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। जिन्होंने बैठक में शामिल होने के लिए सभी सदस्यों को सूचना पत्र जारी किए हैं।

मालूम हो जनपद अध्यक्ष निधि राजपूत की कार्यशैली और उनके पति बद्रीनारायण राजपूत की दखलंदाजी से परेशान जनपद पंचायत के 25 में से 18 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए कलेक्टर के नाम 28 फरवरी को एसडीएम जेपी सैय्याम को ज्ञापन दिया। 25 में से 18 जनपद सदस्यों ने हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन सौंपा। इस दौरान 14 जनपद सदस्य भी मौजूद रहे। इसमें कांग्रेस के साथ ही भाजपा के सदस्य भी शामिल हैं। नगर परिषद और जनपद पंचायत में भाजपा की सरकार है। इससे पहले नगर पंचायत उपाध्यक्ष नन्हेलाल कौशल को हटाने के लिए भी अविश्वास प्रस्ताव लाया गया। जो सफल नहीं हो सका।

टिमरनी। जनपद पंचायत कार्यालय।

इन 18 जनपद सदस्यों ने किए थे हस्ताक्षर

जनपद अध्यक्ष निधि राजपूत के खिलाफ प्रस्तुत अविश्वास प्रस्ताव पत्र पर 18 सदस्यों ने हस्ताक्षर किए थे। इनमें सुमन गणेश पटेल, पूजा कमलेश शर्मा, अंतरसिंह सोलंकी, नर्मदाप्रसाद चौरे, सावित्री भवानी सिंह, सोनू सुंदरलाल, माया रविशंकर गौर, गंगाबाई लखनलाल, रामकिशन धुर्वे, शांतिबाई, ज्योति बारंगे, रामकृष्ण मांगुल्ले, प्रताप सिंह, सजंती, ललिता उइके, सुनीता मालवीया, लक्ष्मण कलम शामिल हैं।

भाजपा में मची खलबली

प्रकरण को लेकर भाजपा में खलबली मची हुई है। सबसे ज्यादा आपसी खींचतान टिमरनी और हरदा क्षेत्र में दिखाई दे रही है। टिमरनी जनपद पंचायत अध्यक्ष को हटाने के साथ ही नगर परिषद में भी खींचतान मची हुई है। इससे पहले हरदा जनपद पंचायत अध्यक्ष फूंदा बाई और उपाध्यक्ष किरण पटेल की कार्यशैली को लेकर भी नाराजगी जाहिर की जा चुकी है।

सूचना दी है


चुनावी साल में विधायक शाह मुश्किल में, पार्टी का ही दूसरा खेमा इसमें लगा हुआ

इस साल के अंत में प्रदेश में विधानसभा चुनाव होना है। ऐसे में क्षेत्रीय विधायक संजय शाह की मुश्किलें लगातार बढ़ रही हैं, जो पार्टी और उनके लिए शुभ संकेत नहीं है। आने वाले दिनों में अंदरूनी कलह और बढ़ेगा। यही चलता रहा तो चुनाव जीतने के लिए शाह को काफी मशक्कत करनी पड़ेगी। वैसे भी क्षेत्र में शाह के खिलाफ लोगों की नाराजगी साफ दिखाई दे रही है। पार्टी का ही दूसरा खेमा इसमें लगा हुआ है।

समझाइश दी जा रही है


X
जनपद अध्यक्ष निधि राजपूत के भाग्य का फैसला 13 को, 14 जनपद सदस्य रहेंगे मौजूद
Click to listen..