--Advertisement--

भाजपा पार्षदों ने सीएमओ से मांगा खर्च का हिसाब

नगर पालिका के स्वच्छता अभियान के दौरान डस्टबिन की खरीदी, पहल नामक एनजीओ को किए भुगतान, शहर में लगाए फ्लेक्स पर खर्च...

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2018, 06:45 AM IST
नगर पालिका के स्वच्छता अभियान के दौरान डस्टबिन की खरीदी, पहल नामक एनजीओ को किए भुगतान, शहर में लगाए फ्लेक्स पर खर्च राशि तथा नपा द्वारा बेचे जा रहे कचरा, लोहा व पन्नी से मिली राशि की जानकारी मांगने भाजपा पार्षदों के हस्ताक्षर से 8 फरवरी को सीएमओ दिनेश मिश्रा को पत्र दिया है। पत्र में 4 बिंदुओं की जानकारी 3 दिन में मागी, लेकिन आज तक जानकारी नहीं मिली है। सामूहिक आवेदन भाजपा की वार्ड 21 की पार्षद पुष्पा राठौर के लेटर हेड पर दिया है।

इसमें टिमरनी की पहल संस्था (एनजीओ) द्वारा लोगों को जागरूक करने क्या-क्या कार्य किए। इसके एवज में नपा ने कितना भुगतान किया। इसका ब्यौरा मांगा है। इसके अलावा शहर में चौराहों पर गीला व सूखा कचरा डालने के लिए लगाए लटकाने वाले डस्टबिन की कहां से किस दर से, किस तरह खरीदी की। यह जानकारी मांगी। इंडस्ट्रियल एरिया में नपा द्वारा बेचे जा रहे लोहा, पन्नी व अन्य सामग्री के बारे में पूछा है। यह किसे बेचा जा रहा है। इससे मिली राशि आदि का ब्यौरा मांगा है। साथ ही सर्वेक्षण को लेकर शहर में लगाए होर्डिंग, फ्लेक्स के आकार व इन पर खर्च हुई राशि का हिसाब पार्टी के पार्षदों ने मांगा है।

खिलाफत

4 बिंदुओं पर भाजपा पार्षदों ने तीन दिन में मांगी 3 जानकारी, सीएमओ बोले अभी पत्र मिला है, देखा नहीं

क्यों पड़ी जरूरत

भाजपा पार्षद पुष्पा राठौर ने कहा शहर में विकास हो रहा है। लेकिन कांग्रेसी और जनता पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता नहीं बरतने का बार-बार आरोप लगा रही है। कांग्रेसियों को मुंह तोड़ जवाब दिया जा सके, इस कारण सीएमओ से यह जानकारी पार्टी हित में मांगी है।

इनके हैं हस्ताक्षर व सील

भाजपा पार्षद पुष्पा राठौर के इस लैटर हेड पर पार्षद अनीता राठौर, विवेक बादर, दुर्गेश सोनी, लीना चावड़ा, धर्मेंद्र माली, हिमांशु सांवरे, लक्ष्मण सिंह सिटोले आदि के हस्ताक्षर व सील है। किसी एक वार्ड के पार्षद ने सील लगाकर दस्तखत किए हैं, लेकिन बाद में उसे काट दिया है।

पत्र से मचा हड़कंप

इसी माह 19, 20 और 21 फरवरी को दिल्ली से क्यूसीआई की टीम आने वाली है। इससे पहले पार्टी के ही करीब दर्जनभर पार्षदों द्वारा खर्चे का ब्यौरा मांगने से नपा में हड़कंप मच गया है। इसे नपा में पार्टी के ही पार्षदों के मन में पनप रहे असंतोष से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

भाजपा की परिषद में उन्हीं के पार्षदों का स्वच्छता सर्वेक्षण पर सवाल उठाना, हमारे द्वारा लगाए गए आरोपों की पुष्टि करता है। यदि नपा की कार्यशैली पारदर्शिता पूर्ण है तो उसे तीन दिन के बजाय 3 घंटे में जानकारी सार्वजनिक करना चाहिए। एप डाउनलोडिंग में भी फर्जीवाड़ा हुआ। अध्यक्ष की कार्यशैली को लेकर हम कलेक्टर से शिकायत कर जांच की मांग करेंगे। आदित्य गार्गव, प्रवक्ता , जिला कांग्रेस हरदा


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..