Home | Madhya Pradesh | Timarni | शिक्षा का स्तर गिरने से हर साल 25 फीसदी बच्चे कम

शिक्षा का स्तर गिरने से हर साल 25 फीसदी बच्चे कम

सरकारी स्कूलों में बच्चे कम हो रहे हैं, तो शिक्षक भी कम होंगे। शिक्षकों को पहले शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करना...

Bhaskar News Network| Last Modified - Apr 05, 2018, 07:05 AM IST

1 of
शिक्षा का स्तर गिरने से हर साल 25 फीसदी बच्चे कम
सरकारी स्कूलों में बच्चे कम हो रहे हैं, तो शिक्षक भी कम होंगे। शिक्षकों को पहले शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करना होगा, तभी शिक्षा में सुधार आएगा। आज शिक्षा का स्तर गिरता जा रहा है। हर साल शासकीय स्कूलों से 25 प्रतिशत बच्चे कम हो रहे हैं। यदि सभी शिक्षक अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से निर्वहन करेंगे तो वह स्कूल सौ प्रतिशत सुधर जाएंगे। आप सबको काम करना पड़ेगा। यह बात बुधवार को उत्कृष्ट स्कूल में हुए जॉय ऑफ लर्निंग कार्यक्रम के प्रशिक्षण में उत्कृष्ट विद्यालय व तजपुरा संकुल के शिक्षकों से राज्य शिक्षा केंद्र के ओआईसी आरके त्रिवेदी ने कही। उन्होंने कहा अब आगे थोपा हुआ प्रशिक्षण नहीं दिया जाएगा, जो टीचर अच्छी गतिविधियां करेगा, उससे ही पहले प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। जिससे दूसरे भी प्रेरित होकर अच्छा कर सकें। शिक्षा की गुणवत्ता से ही सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या में इजाफा होगा। इसके लिए शिक्षकों को पूरी ईमानदारी से प्रयास करने होंगे।

आयोजन

राज्य शिक्षा केंद्र के ओआईसी आरके त्रिवेदी ने जाॅय ऑफ लर्निंग कार्यशाला में शिक्षकों को दी की जानकारी

पोर्टल पर दें जानकारी

परिवर्तन जरूरी है। नया कुछ नहीं है, पुराने जो नियम हैं, उसे ही अधिकारी बदलकर नया बना रहे हैं। हमने अपनी गरिमा खुद को ही दी है। शासन द्वारा सभी स्कूलों को पोर्टल पर जानकारी देने के लिए कहा गया है, लेकिन कोई भी स्कूल अपने स्कूलों की गतिविधियां पोर्टल पर नहीं डाल रहा हैं। इस दौरान डीपीसी डॉ. आरएस तिवारी, नप अध्यक्ष गायत्री गोयल, एपीसी विवेक शर्मा, बीआरसी बीएस कटारे अन्य शिक्षक मौजूद रहे।

स्कूलों में कम मिली बच्चों की उपस्थिति

टिमरनी| राज्य शिक्षा केंद्र की भोपाल टीम ने बुधवार को नगर के स्टेशन रोड पर स्थित प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान बच्चों की उपस्थिति कम दर्ज मिली। ओआईसी के आरके त्रिवेदी ने कहा युक्ति युक्तकरण के तहत सुधार नहीं किया तो स्कूल बंद हो जाएगा। यहां प्राथमिक व माध्यमिक दोनों ही शालाओं में बच्चों की उपस्थिति बहुत कम है। दोनों ही शालाओं में विद्यार्थियों की दर्ज संख्या बढ़ाना होगी। साथ ही करीबी ग्राम पंचायत भादूगांव की प्राथमिक व माध्यमिक शालाओं में भी निरीक्षण किया गया, जहां उपस्थिति अच्छी होने से संतुष्टि जाहिर की है। इस दौरान एपीसी विवेक शर्मा मौजूद रहे।

शिक्षा का स्तर गिरने से हर साल 25 फीसदी बच्चे कम
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now