Hindi News »Madhya Pradesh »Timarni» 3 किमी दूर खरीदी केंद्र था, अब 17 किमी दूर बनाया, 550 किसानों की बढ़ी मुश्किलें

3 किमी दूर खरीदी केंद्र था, अब 17 किमी दूर बनाया, 550 किसानों की बढ़ी मुश्किलें

भास्कर संवाददाता| टिमरनी/करताना करताना सहकारी समिति केंद्र में 5 गांव है, लेकिन इनमें से 2 गांवों के किसानों को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 28, 2018, 08:00 AM IST

भास्कर संवाददाता| टिमरनी/करताना

करताना सहकारी समिति केंद्र में 5 गांव है, लेकिन इनमें से 2 गांवों के किसानों को समर्थन मूल्य पर उपज बेचने के लिए अलग केंद्र बनाया है। दोनों गांवों के किसानों को 17 किमी दूर वेयर हाउस में केंद्र बनाया गया है। इससे दोनों गांवों के करीब 550 किसानों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। किसानों ने एसडीएम पीके पांडे को समस्या बताते हुए केंद्र बदलने की मांग की है। मंगलवार को किसानों के साथ जैव विविधता एवं प्रबंधन समिति अध्यक्ष सुनील दुबे ने बताया विकासखंड के नौसर व पुरा के किसानों को समर्थन मूल्य पर गेहूं की बिक्री में परेशानी आ रही है। उन्होंने बताया करताना समिति में 5 गांव है। इनमें करताना, गोदड़ी, काथड़ी, नौसर और पुरा है। करताना में समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही है। यहां सिर्फ करताना, गोदड़ी और काथड़ी के किसानों की उपज खरीदी की जा रही है। नौसर व पुरा के किसानों का खरीदी केंद्र टिमरनी में ओम वेयर हाउस को बनाया गया है। यहां से पुरा 17 किमी और नौसर 14 किमी दूर है।

टिमरनी। एसडीएम को समस्या बताते जैव विविधता व प्रबंधन समिति अध्यक्ष।

Rs.40 क्विंटल लग रहा भाड़ा

किसानों ने बताया करताना केंद्र दोनों गांवों से करीब 2 से 3 किमी की दूरी पर है, वहीं वेयर हाउस 15 से 17 किमी है। ऐसे में किसानों को भाड़ा अधिक लग रहा है। किसानों को प्रति क्विंटल 40 रुपए भाड़ा लग रहा है। यदि समिति द्वारा गेंहूं खरीदा जाता तो परिवहनकर्ता को 27 रुपए प्रति क्विंटल भाड़ा दिया जाता है। ऐसे में किसानों को आर्थिक नुकसान होगा। पूर्व में भी नौसर से सायलो तक जाने वाले किसानों को 25 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से शासन ने राशि दी थी।

नौसर व पुरा के किसानों ने खरीदी केंद्र की समस्या बताई। किसानों के हित में समर्थन मूल्य पर की जा रही खरीदी में उचित व्यवस्था करेंगे। पीके पांडे, एसडीएम, टिमरनी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Timarni

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×