• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Timarni News
  • वार्ड 1-2 में नहीं पहुंचा घरों तक टंकी का पानी, हैंडपंप व बोरिंग से चला रहे काम
--Advertisement--

वार्ड 1-2 में नहीं पहुंचा घरों तक टंकी का पानी, हैंडपंप व बोरिंग से चला रहे काम

नगर परिषद क्षेत्र में विकास कार्य नहीं होने से रहवासियों की समस्याओं का समाधान नहीं हो रहा है। रहवासी पार्षदों को...

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 08:30 AM IST
वार्ड 1-2 में नहीं पहुंचा घरों तक टंकी का पानी, हैंडपंप व बोरिंग से चला रहे काम
नगर परिषद क्षेत्र में विकास कार्य नहीं होने से रहवासियों की समस्याओं का समाधान नहीं हो रहा है। रहवासी पार्षदों को समस्या बताते हैं, लेकिन अध्यक्ष गायत्री गोयल और सीएमओ एचआर खाड़े पार्षदों की ही नहीं सुन रहे। इससे विकास कार्य अटके पड़े हैं। वार्ड 1 और 2 में अब तक रहवासियों की पीने के पानी तक की समस्या हल नहीं हुई है।

पाइपलाइन नहीं बिछाने के कारण पानी घरों तक नहीं पहुंचा है, इससे रहवासियों से सुबह से शाम पानी हैंडपंप से ढोना पड़ रहा है। नगर परिषद क्षेत्र में 15 वार्ड हैं। इसमें से वार्ड 1 और 2 में विकास कार्य नहीं कराए गए हैं। साथ ही बाकी के 13 वार्डों में कई काम शुरू ही नहीं हुए और कुछ काम शुरू हुए तो अब तक पूरे नहीं हुए हैं। इससे रहवासियों की परेशानियां कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। रहवासी रामप्रसाद का कहना है वार्ड 1 व 2 ऐसे हैं, जहां विकास कार्य के नाम पर रहवासियों के साथ छलावा हुआ है। वार्डों में न तो सड़क बनी है, न ही नाली का निर्माण किया है। इससे जहां-तहां गंदा पानी जमा हो रहा है। वहीं लोगों को आवागमन में भी परेशानी आ रही है। वार्ड में सफाई तक नहीं हो रही है।

हैंडपंप व बोरिंग के भरोसे 2200 लोग

वार्ड 1 व 2 की जनसंख्या करीब 2200 है। दोनों ही वार्ड में नगर परिषद ने घरों तक पानी नहीं पहुंचाया है। इससे वार्ड के हजारों रहवासी हैंडपंप और बोरिंग पर निर्भर हैं। पानी के लिए हैंडपंप पर सुबह से ही लाइन लग जाती है। रहवासियों का कहना है बारिश व ठंड में तो काम चल गया, लेकिन अब गर्मियों का समय शुरू होने वाला है। ऐसे में हैंडपंप और बोरिंग दोनों ही जवाब दे देंगे। फिर वार्ड में जलसंकट गहराएगा। तब परेशानी और ज्यादा होगी। परिषद टैंकरों के जरिए पानी की सप्लाई करेगी, लेकिन जरूरत के मुताबिक पानी नहीं मिलेगा।

टिमरनी। वर्षाें बाद भी नहीं बना झाड़तलाई मार्ग।

झाड़तलाई मार्ग फाइलों में अटका, हर दिन आवागमन में परेशानी होती हैं

मुख्यमंत्री अधोसंरचना योजना के तहत वार्ड 2 में झाड़तलाई मार्ग की स्वीकृति मिली। 2013 में 23 लाख 37 हजार की लागत से नाले का तो निर्माण करा दिया, लेकिन अब तक सड़क का निर्माण नहीं हुआ है। सड़क निर्माण कार्य की फाइल विभाग में अटकी हुई है। वहीं परिषद ने भी अब तक मार्ग का प्रस्ताव बैठक में लिया है। जबकि क्षेत्र में 60 से अधिक परिवार रहते हैं। इससे उन्हें हर दिन आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

प्रस्तावित कार्यों का निर्माण भी अटका

नगर पंचायत के वार्डों में कई विकास कार्य स्वीकृत होने के बाद भी अटके हुए हैं। वार्डों में सड़क, नाली जैसे निर्माण कार्य ही नहीं हुए हैं। लगभग 15 से अधिक निर्माण कार्य परिषद में 2 वर्ष पहले से स्वीकृत हुए हैं, लेकिन उन स्वीकृत कार्यों का निर्माण कार्य अब तक शुरू नहीं कराया है। वहीं कुछ स्थानों पर निर्माण तो शुरू करा दिया, लेकिन वे अब भी अधूरे हैं। रहवासी और पार्षद शिकायतें करके परेशान हो रहे हैं। लेकिन कोई नहीं सुन रहा।

एक सप्ताह में शुरू होंगे काम


X
वार्ड 1-2 में नहीं पहुंचा घरों तक टंकी का पानी, हैंडपंप व बोरिंग से चला रहे काम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..