टिमरनी

--Advertisement--

अस्पताल के सामने नजूल भूमि पर न दें गन्ना चरखी की अनुमति

टिमरनी| सरकारी अस्पताल के सामने की नजूल की भूमि पर गन्ना चरखी लगाने की अनुमति नहीं देने की मांग की जा रही है। इसे...

Danik Bhaskar

Feb 26, 2018, 08:40 AM IST
टिमरनी| सरकारी अस्पताल के सामने की नजूल की भूमि पर गन्ना चरखी लगाने की अनुमति नहीं देने की मांग की जा रही है। इसे लेकर सरकारी अस्पताल और आसपास के लोगों और व्यवसाइयों ने एसडीएम को ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में बताया है कि इस जगह पर गन्ने की चरखी लगने से क्षेत्र के लोगों को खासी परेशानी होती है। चरखी के लिए चलने वाले जनरेटरों के शोर से ध्वनि प्रदूषण होता है जिससे अस्पताल में भर्ती मरीज और दुकानदार मानिसक तौर पर प्रताड़ित होते हैं। दुकानदार उनके यहां आए ग्राहकों से बात तक नहीं कर पाते। दुकानें देर रात तक खुले रहने से यहां असामाजिक तत्वों का डेरा रहता है। वहीं इन चरखियों की वजह से गंदगी फैलती है, जिससे नगर परिषद के स्वच्छता अभियान पर असर पड़ता है, मवेशियों का यहां डेरा रहता है, जिससे आवागमन प्रभावित होता है, दुर्घटना की भी आशंका रहती है। इस क्षेत्र में ऐसे भी वाहन पार्किंग के लिए जगह नहीं है। अस्पताल में लगने वाले कैंप के समय आने वाले वाहन, पास ही मुख्य बाजार होने से बाजार में आने वाले दोपहिया, चार पहिया वाहन और चरखी लगने से दुकानदार और ग्राहकों के वाहन इस मुख्य सड़क पर ही खड़े रहते हैं जिससे यातायात प्रभावित होता है, वहीं दुर्घटना होने की आशंका रहती है। गोकुल, अनिल, विपत , राहुल, सौरभ, दीपेश, सूरज कौशल, सुनील, अजय चंदेल, अमित आदि ने एसडीएम से मांग की है कि इस स्थान पर गन्ने की चरखी की अनुमति न दें। यदि अनुमति दे भी दी है तो उसे निरस्त कर दें।

Click to listen..