टिमरनी

--Advertisement--

63 करोड़ से 6 उपनहर बनेंगी पक्की 45 हजार हेक्टे. भूमि की होगी सिंचाई

जिले की एचबीसी व एलबीसी की छह उपनहरों के टेंडर रिकाॅल किए गए हैं। अब एक माह में प्रक्रिया पूरी होते ही नहरों का...

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 05:40 PM IST
जिले की एचबीसी व एलबीसी की छह उपनहरों के टेंडर रिकाॅल किए गए हैं। अब एक माह में प्रक्रिया पूरी होते ही नहरों का निर्माण शुरू होगा। 63 करोड़ रुपए से छह उपनहर की लाइनिंग मई माह के पहले सप्ताह में शुरू होने की उम्मीद है। लाइनिंग से हरदा, टिमरनी व खिरकिया के 45 हजार हेक्टेयर रकबे में सिंचाई का पानी आसानी से उपलब्ध होगा। इसमें एचबीसी (हंडिया ब्रांच केनाल) की 19929 हेक्टेयर व एलबीसी (लेफ्ट ब्रांच केनाल) की 25501 हेक्टेयर जमीन शामिल है।

जानकारी के मुताबिक अजनई, रुंदलई व हरदा उपनहर का निर्माण 26.10 करोड़ रुपए से होना है। इससे करीब 25000 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई का पानी आसानी से पहुंचेगा। टेल क्षेत्र के किसानों को सिंचाई के पानी के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। इन तीनाें उपनहर के रेट अधिक होने की वजह से टेंडर रीकॉल किए गए हैं। इसी तरह माचक-खिरकिया, रेवापुर व सोनतलाई उपनहर के 84 किमी की लाइनिंग की लागत 63 करोड़ रुपए है। हालांकि, इन तीनों उपनहर के हाल ही में टेंडर लेने के लिए कोई आगे नहीं आया। इसके बाद पुन: विभाग ने टेंडर जारी किए। विभाग ने कहा कि काम के लिए एजेंसियां आगे आई हैं। एक माह में टेंडर प्रक्रिया पूरी करा ली जाएगी।

टेंडर हो गए हैं


हरदा। जिले की उपनहरों की होगी लाइनिंग।

कहां कितना होगा उपनहर का काम

उपनहर लंबाई (किमी में) सिंचाई का रकबा (हेक्टेयर में)

माचक-खिरकिया 48.03 12500

साेनतलाई 12 5300

रेवापुर 24 12200

अजनई 25 7700

रुंदलई 16 5500

हरदा उपशाखा 19 11800

जिले में सिंचाई का रकबा


X
Click to listen..