--Advertisement--

अब 31 तक होगा चना पंजीयन 4400 रुपए समर्थन मूल्य तय

भावांतर के तहत पंजीयन कराने वाले किसानों का चना अब समर्थन मूल्य पर जिले की मंडियों में बिकेगा। चना का समर्थन मूल्य...

Danik Bhaskar | Mar 26, 2018, 05:40 PM IST
भावांतर के तहत पंजीयन कराने वाले किसानों का चना अब समर्थन मूल्य पर जिले की मंडियों में बिकेगा। चना का समर्थन मूल्य 4400 रुपए घोषित किया गया है। इसके अलावा सरकार किसानों को 100 रुपए बोनस भी देगी। शासन ने भावांतर के पंजीयन की तिथि बढ़ा दी है। अब जिले के किसान 31 मार्च तक चना का पंजीयन निर्धारित केंद्रों पर करा सकते हैं।

सहायक संचालक कृषि कपिल बेड़ा ने बताया भावांतर में चना पंजीयन की तिथि बढ़ाकर 31 मार्च कर दी है। समर्थन मूल्य पर चना की खरीदी 10 अप्रैल से 31 मई तक की जाएगी। नाफेड सहकारी समितियों के माध्यम से हरदा, टिमरनी, खिरकिया व सिराली मंडी में समर्थन मूल्य पर चना की खरीदी करेगी। इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। उन्होंने बताया 24 मार्च तक जिले के 19288 किसानों ने भावांतर में चना का पंजीयन कराया था। उन्होंने बताया सरकार ने 4400 रुपए चना का समर्थन मूल्य घोषित किया है। इस पर 100 रुपए बोनस भी दिया जाएगा।

गेहूं के पंजीकृत किसानों को मंडी में बेचने पर भी मिलेगा 265 रुपए

जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए 45544 किसानों ने पंजीयन कराया है। केंद्रों पर गेहूं बेचने वाले किसानों को 1735 रुपए खाते में भुगतान जमा होगा। इसके अलावा सीएम कृषक समृद्धि योजना के तहत 265 रुपए की प्रोत्साहन राशि जून माह में किसानों के खातों में जमा होगी। सहायक संचालक कृषि कपिल बेड़ा के मुताबिक पंजीकृत किसान मंडियों में भी गेहूं बेचने हैं तो उन्हें भी प्रोत्साहन राशि मिलेगी।