टिमरनी

--Advertisement--

माता-पिता की स्मृति में बेटों ने मुक्तिधाम में बनवाया अस्थि बैंक

टिमरनी। अस्थियों को सुरक्षित रखने मुक्तिधाम में लगवाया अस्थि बैंक। राजीव साबू | सोडलपुर/टिमरनी। शहर के एक...

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 05:20 AM IST
माता-पिता की स्मृति में बेटों ने मुक्तिधाम में बनवाया अस्थि बैंक
टिमरनी। अस्थियों को सुरक्षित रखने मुक्तिधाम में लगवाया अस्थि बैंक।

राजीव साबू | सोडलपुर/टिमरनी।

शहर के एक परिवार में मृत्युभोज बंद कर जरूरतमंदों की मदद का निर्णय लिया। परिवार के लोगों ने मुक्तिधाम में अस्थि संग्रहण बैंक भी बनवाया, ताकि लोग मृत्यु के बाद परिजनों की अस्थियां सुरक्षित रख सकें और तय समय पर नदियों में विसर्जित कर सकें। शहर की परसाई काॅलोनी के गली नंबर दो में रहने वाले शर्मा परिवार की इस पहल की सभी जगह सराहना हो रही है।

परसाई कॉलोनी निवासी दीपक, दिलीप व राकेश शर्मा की मां शांति देवी की मृत्यु वर्ष 1991 में हो चुकी है। पिता प्रेमनारायण शर्मा का निधन इसी साल अप्रैल माह के अंतिम सप्ताह में हो गया। मृत्युभोज बंद का निर्णय लिया। परिवार ने भोज की राशि जरूरतमंदों पर खर्च करने का निर्णय लिया। इसके बाद तीनों भाइयों ने मुक्तिधाम में अस्थियां संग्रहित करने के लिए अस्थि बैंक का निर्माण कराया। इसमें 9 लॉकर लगाए हैं। इसमें लोग अस्थियों को सुरक्षित रख सकते हैं। इसके पूर्व व्यवस्था नहीं होने से मृत्यु के बाद लोगों की अस्थियों को दीवार पर टांगना पड़ता था। जो सुरक्षित नहीं होता था।

वृद्धाश्रम में दिया कूलर, बांटे कपड़े

दीपक, दिलीप व राकेश तीनों भाइयों ने परिजनों के साथ मिलकर हरदा में वृद्धाश्रम में रह रहे बेसहारा बुजुर्गों को कपड़े व फल दिए। बुजुर्गों की जरूरत के बाद गर्मी से बचाने के लिए कूलर दिया। शर्मा परिवार के इस निर्णय की समाज में सराहना हो रही है।

X
माता-पिता की स्मृति में बेटों ने मुक्तिधाम में बनवाया अस्थि बैंक
Click to listen..