• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Timarni News
  • सीएम की घोषणा के 10 साल बीते, पीडब्ल्यूडी नहीं बन सका 6.36 करोड़ का 15 किमी मार्ग
--Advertisement--

सीएम की घोषणा के 10 साल बीते, पीडब्ल्यूडी नहीं बन सका 6.36 करोड़ का 15 किमी मार्ग

कार्रवाई से बचने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना को हैंडओवर की सड़क सूत्रों के अनुसार 10 साल में सड़क का निर्माण...

Danik Bhaskar | May 12, 2018, 05:40 AM IST
कार्रवाई से बचने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना को हैंडओवर की सड़क

सूत्रों के अनुसार 10 साल में सड़क का निर्माण नहीं हो पाने, गुणवत्ता को लेकर सवाल उठते रहे हैं। इस कार्रवाई से बचने के लिए अब अधिकारियों ने मार्ग को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना को सौंप दिया है। हालांकि, सड़क निर्माण शुरू नहीं हो सका है।

अब 12 करोड़ से बनेगा मार्ग

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से मिली जानकारी के मुताबिक हरदा-मगरधा रोड़ से खामापड़वा-सुखरास-डगावाशंकर होते हुए सिराली तक 18 किमी मार्ग के लिए टेंडर काल किए हैं। इसकी लागत 12 करोड़ रुपए है। अब ग्रामीणों को निर्माण की आस बंधी है। हालांकि, सीएम की घोषणा के तहत सिराली-घोघड़ा- खामापड़वा तक 15 किमी के बीच के छह किमी का केलनपुर-खामापड़वा से बम्हनगांव तक का हिस्सा शामिल नहीं है।

श्रेय लेने दो बार हुआ था भूमिपूजन

विधायक कमल पटेल व टिमरनी विधायक संजय शाह में सड़क निर्माण का श्रेय लेने की होड़ लग गई थी। इसी के चलते दोनों ने अलग-अलग भूमिपूजन किया था। 1 अप्रैल टिमरनी विधायक शाह व 4 अप्रैल को तत्कालीन विधायक कमल पटेल ने अपने-अपने समर्थकों के साथ भूमिपूजन किया।

जनउपयोगी लोक अदालत ने जारी किए थे नोटिस

15 किमी सड़क का तय समय में निर्माण नहीं होने पर जनउपयोगी लोग अदालत में याचिका दायर की। इसमें सुनवाई करते हुए 26 जून 2016 को न्यायाधीश ने 6 अफसरों को नोटिस जारी किए। इसमें मुख्य सचिव लोक निर्माण विभाग भोपाल, विभाग के प्रमुख अभियंता, कार्यपालन यंत्री, एसडीओ खिरकिया व उपयंत्री खिरकिया शामिल थे। इसके बाद न्यायालय ने 8 माह में काम करने के आदेश दिए थे।

मार्ग पीएम ग्राम सड़क योजना में हस्तांतरित कर दी है