• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Timarni News
  • श्याम वेयर हाउस पर एसडीएम के निर्देश पर फिर हुई जांच, विभाग ने दी क्लीनचिट
--Advertisement--

श्याम वेयर हाउस पर एसडीएम के निर्देश पर फिर हुई जांच, विभाग ने दी क्लीनचिट

हरदा रोड स्थित श्याम वेयर हाउस पर किसानों से एक से दो किलो अधिक गेहूं तौलने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बुधवार को...

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 05:55 AM IST
श्याम वेयर हाउस पर एसडीएम के निर्देश पर फिर हुई जांच, विभाग ने दी क्लीनचिट
हरदा रोड स्थित श्याम वेयर हाउस पर किसानों से एक से दो किलो अधिक गेहूं तौलने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश सचिव शैलेंद्र वर्मा ने वेयर हाउस पर किसानों से एक से दो किलो उपज अधिक लेने का आरोप लगाया है। इसके बाद बुधवार को एसडीएम के निर्देश पर खाद्य अधिकारी मौके पर पहुंची और पंचनामा बनाया। गुरुवार को मामले की प्रशासन ने जांच कराई तो उन्हें तौलकांटा सही मिला। प्रशासन ने श्याम वेयर हाउस को क्लीनचिट दे दी। अब वेयर हाउस संचालक मामले में यूनियन के प्रदेश सचिव के खिलाफ शिकायत दर्ज करने की बात कह रहे हैं।

गुरुवार को श्याम वेयर हाउस पर एसडीएम पीके पांडे, जिला नापतौल अधिकारी सीवी शुक्ला, जितेंद्र सोनी ने निरीक्षण कर जांच की। इसमें उन्हें किसी भी प्रकार की गड़बड़ी नहीं मिली। इसके बाद वेयर हाउस संचालक ओमप्रकाश गोयल ने झूठी शिकायत करने पर वर्मा को आड़े हाथों लेते हुए शिकायत करने की बात कही। वहीं खरीदी केंद्र प्रभारी दयालु मालाकार ने बताया किसी भी अन्य किसान ने कोई शिकायत अभी तक नहीं की है, तौलकांटे से सही तुलाई की जा रही है।

10-20 किलो का अंतर सामान्य बात

नापतौल अधिकारी सीवी शुक्ला ने बताया बड़े इलेक्ट्रॉनिक कांटों में 10-20 किलो तक का अंतर आना सामान्य है। वहीं जिस अन्नपूर्णा वेयर हाउस तौलकांटे की तुलाई की बात सामने आई हैं, वहां कोई शासकीय खरीदी नहीं हो रही है। कई बार तौलकांटे की सफाई, सर्विसिंग न होने से जमी मिट्टी के कारण भी तौल में गड़बड़ी आ जाती है। वहीं अन्नपूर्णा तौल कांटे की जांच की जाएगी। श्याम वेयर हाउस में कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई।

किसान नेता ने तौल कांटे को दुरुस्त कराने की आशंका जताई

आज दी क्लीनचिट, तत्काल क्यों नहीं कराई जांच

किसान नेता शैलेंद्र वर्मा ने कहा बुधवार को तौल में अंतर आ रहा था। अन्नपूर्णा वेयर हाउस से तौल कराने पर भी अंतर आया। वर्मा ने कहा प्रशासन ने नाप तौल निरीक्षक से गुरुवार सुबह 11 बजे तौल कांटा चेक कराया। जबकि मौके पर ही बुधवार को अधिकारियों को बुलाकर हमारे सामने जांच कराना थी। तब सच्चाई सामने आ जाती। उन्होंने आरोप लगाया बुधवार शाम व रात से गुरुवार सुबह के बीच के समय में इस तौल कांटे को दुरुस्त कराने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है।

टिमरनी। केंद्र पर तुलाई कर जांच करते हुए।

भास्कर संवाददाता| टिमरनी

हरदा रोड स्थित श्याम वेयर हाउस पर किसानों से एक से दो किलो अधिक गेहूं तौलने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश सचिव शैलेंद्र वर्मा ने वेयर हाउस पर किसानों से एक से दो किलो उपज अधिक लेने का आरोप लगाया है। इसके बाद बुधवार को एसडीएम के निर्देश पर खाद्य अधिकारी मौके पर पहुंची और पंचनामा बनाया। गुरुवार को मामले की प्रशासन ने जांच कराई तो उन्हें तौलकांटा सही मिला। प्रशासन ने श्याम वेयर हाउस को क्लीनचिट दे दी। अब वेयर हाउस संचालक मामले में यूनियन के प्रदेश सचिव के खिलाफ शिकायत दर्ज करने की बात कह रहे हैं।

गुरुवार को श्याम वेयर हाउस पर एसडीएम पीके पांडे, जिला नापतौल अधिकारी सीवी शुक्ला, जितेंद्र सोनी ने निरीक्षण कर जांच की। इसमें उन्हें किसी भी प्रकार की गड़बड़ी नहीं मिली। इसके बाद वेयर हाउस संचालक ओमप्रकाश गोयल ने झूठी शिकायत करने पर वर्मा को आड़े हाथों लेते हुए शिकायत करने की बात कही। वहीं खरीदी केंद्र प्रभारी दयालु मालाकार ने बताया किसी भी अन्य किसान ने कोई शिकायत अभी तक नहीं की है, तौलकांटे से सही तुलाई की जा रही है।

10-20 किलो का अंतर सामान्य बात

नापतौल अधिकारी सीवी शुक्ला ने बताया बड़े इलेक्ट्रॉनिक कांटों में 10-20 किलो तक का अंतर आना सामान्य है। वहीं जिस अन्नपूर्णा वेयर हाउस तौलकांटे की तुलाई की बात सामने आई हैं, वहां कोई शासकीय खरीदी नहीं हो रही है। कई बार तौलकांटे की सफाई, सर्विसिंग न होने से जमी मिट्टी के कारण भी तौल में गड़बड़ी आ जाती है। वहीं अन्नपूर्णा तौल कांटे की जांच की जाएगी। श्याम वेयर हाउस में कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई।

क्यों दी क्लीनचिट

एसडीएम पीके पांडे ने बताया शिकायत के बाद दो बार कांटे की जांच की। शिकायतकर्ता ने बुधवार को निजी वेयर हाउस के तौल कांटे से अपने स्तर पर तौल कराया था। उस दौरान कोई सरकारी अधिकारी की मौजूदगी में यह तौल वगैरह नहीं हुआ था। पांडे ने कहा शासन खरीदी से पहले नाप तौल विभाग से खरीदी केंद्रों पर उपयोग होने वाले तौल कांटे की जांच कराकर सत्यापन कराता है। उन्हीं कांटों से खरीदी होती है। शिकायतकर्ता ने जहां से तौल कराकर अंतर का आरोप लगाया था, वह निजी तौल कांटा है। जिसमें नीचे मिट्टी जमा होने या उसके जाम होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।

दोबारा जांच में, गड़बड़ी नहीं आई


तुलाई में अंतर आ रहा है


भोपाल से मैसेज नहीं मिलने से किसान परेशान

खिरकिया|
भारतीय किसान संघ के सदस्यों ने गुरुवार शाम एसडीएम वीपी यादव को ज्ञापन सौंपा। इसमें मांग की कि इन दिनों समर्थन मूल्य पर चना खरीदी चल रही है, लेकिन किसानों को भोपाल से मैसेज नहीं मिलने के कारण उपज समय पर नहीं बेच पा रहे हैं। अध्यक्ष कैलाश गुर्जर ने लोकल स्तर पर मैसेज भेजने की व्यवस्था करने की मांग की। एसडीएम ने तत्काल कार्रवाई का आश्वासन दिया। वहीं चना, गेहूं खरीदी के दौरान कुछ सोसाइटी बड़े व्यापारियों और किसानों से पहले माल खरीद कर मिलीभगत कर रहे हैं। इस पर एसडीएम ने कहा आज ही चारुवा के एक किसान ने इस संबंध में शिकायत की है। अगर ऐसा हो रहा है तो मामले की जांच कर सोसाइटी पर कार्रवाई की जाएगी।

करताना केंद्र पर बारदाना नहीं होने से दो दिन से खरीदी बंद

करताना| सहकारी समिति करताना पर दो दिनों से समर्थन मूल्य पर की जा रही गेहूं की खरीदी बंद है। मंगलवार व बुधवार को खरीदी बारदाना के नहीं होने से बंद रही। इस कारण किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। किसान अपनी उपज केंद्र पर लाकर तुलाई का इंतजार कर रहे हैं। बारदाना के अभाव में केंद्र पर गेहूं के ढेर लगे हुए हैं। किसानों ने बताया गुरुवार शाम को बारदान पहुंचे हैं, अब शुक्रवार को केंद्र पर खरीदी शुरू होगी।

X
श्याम वेयर हाउस पर एसडीएम के निर्देश पर फिर हुई जांच, विभाग ने दी क्लीनचिट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..