--Advertisement--

कृषि विभाग के तीन एसएडीओ का 3-3 दिन का वेतन कटेगा

हरदा। कलेक्टोरेट में समीक्षा करते अधिकारी। शिकायतों का निराकरण नहीं करने वाले अधिकारियों को लगाई फटकार ...

Danik Bhaskar | Apr 24, 2018, 06:25 AM IST
हरदा। कलेक्टोरेट में समीक्षा करते अधिकारी।

शिकायतों का निराकरण नहीं करने वाले अधिकारियों को लगाई फटकार

भास्कर संवाददाता| हरदा

कृषि विकास एवं कृषक कल्याण विभाग की 149 शिकायतें एल-1 से एल-2 पर बिना निराकरण दर्ज हो गईं। इनके निराकरण के लिए एल-1 अधिकारियों ने कोई प्रयास नहीं किए। इस कारण तीनों वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारियों के 3-3 दिन के वेतन काटने की कार्रवाई की जाए। यह निर्देश जिपं सीईओ केडी त्रिपाठी ने सोमवार को टीएल की बैठक में दिए।

सूत्रों ने बताया कृषि विभाग से जुड़ी शिकायतों का खिरकिया के वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी संजय जैन, टिमरनी के प्रभारी कृषि विस्तार अधिकारी आरएस राजपूत व हरदा के जीएस यादव को एल-1 स्तर पर इन समस्याओं के निराकरण के प्रयास करना था। ऐसा नहीं होने से ये शिकायतें अगले स्तर पर दर्ज हो गईं। इससे नाराज सीईओ ने तीनों के 3-3 दिन के वेतन काटने के निर्देश दिए। उन्होंने दूसरे अफसरों से कहा इनके लिए 15 दिन का समय होता है, वे भी एक-एक शिकायतों की समीक्षा करें। उन्होंने अफसरों को फटकारते हुए कहा जिला में 370 शिकायतें बिना निराकरण दर्ज हुए हायर लेवल पर गईं हैं। जिससे जिले का वेटेज प्रतिशत डाउन हुआ।

सीईओ ने मंडी सचिव एमएस मुनिया से कहा भावांतर की 508 शिकायतें पेंडिंग हैं। इनका भुगतान सुनिश्चित करें। हर शिकायतकर्ता से बात कर संतुष्टिपूर्वक शिकायत खत्म करें। उन्होंने कमिश्नर की बैठक में शामिल किसानों द्वारा पानी के संबंध में किए जा रहे सकारात्मक प्रयासों के फोटो उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों से कहा। ग्राम स्वराज अभियान की समीक्षा की। नपा सीएमओ दिनेश मिश्रा से कहा शहर में असंगठित मजदूरों के पंजीयन कम हो रहे हैं, इसे बढ़ाएं। जिससे 2 मई काे होने वाली ग्राम सभा में इनका वाचन हो सके। स्वास्थ्य विभाग से आयुष्मान भारत कार्यक्रम की तैयारियों की जानकारी ली।