--Advertisement--

कैशियर ने 2-2 हजार की चिल्लर थमाई तो किसानों ने किया हंगामा

जिला सहकारी बैंक शाखा में किसान समर्थन मूल्य पर बेची उपज की राशि लेने पहुंचे तो कैशियर ने उन्हें 1-1 रुपए के सिक्कों...

Dainik Bhaskar

Apr 24, 2018, 06:25 AM IST
कैशियर ने 2-2 हजार की चिल्लर थमाई तो किसानों ने किया हंगामा
जिला सहकारी बैंक शाखा में किसान समर्थन मूल्य पर बेची उपज की राशि लेने पहुंचे तो कैशियर ने उन्हें 1-1 रुपए के सिक्कों से भरी थैली थमा दी। एक किसान को 2 हजार रुपए की चिल्लर थमाई। इससे किसान आक्रोशित हो गए और उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। बाद में उन्हें समझाईश दी, तब जाकर माने।

नोटबंदी के बाद से ही बैंकों में कैश की किल्लत जारी है। सोमवार को इसे लेकर जमकर हंगामा हुआ। सुबह जब किसान राशि लेने के लिए पहुंचे तो उनसे राशि नहीं होने का हवाला देकर पासबुक जमा करवा ली। दोपहर में जब जिला सहकारी बैंक हरदा से 2.50 लाख के एक-एक के सिक्के और 77.50 लाख के नोट आए तो उसका वितरण शुरू किया। कैशियर ने किसानों को नोट के साथ ही 1-1 रुपए के सिक्कों की 4-4 थैलियां भी थमाना शुरू कर दी। एक थैली में करीब 500 रुपए थे। जब किसानों ने 2-2 हजार रुपए की चिल्लर देखी तो वे आक्रोशित हो गए और हंगामा शुरू करते हुए 2 हजार और 500 रुपए के नोट की मांग करने लगे।

किसान दिनभर लगे रहे लाइन में

सोमवार को बैंक खुलने से पहले किसान पहुंच गए, ताकि राशि समय पर मिल सके। लेकिन राशि दोपहर 3 बजे के बाद हरदा बैंक से आई। तब तक किसान बैंक में राशि की आस में दिनभर लाइन में लगे रहे। किसान कन्हैया लाल का कहना है सुबह से हम रुपयों के लिए लाइन लगाकर खड़े हैं, जब हमें राशि दी तो उसमें सिक्के भी दिए जा रहे थे। इसे लेने में मना कर दिया। गाड़ामोड़कलां के किसान रामकृष्ण यदुवंशी ने कहा हमें सिक्के नहीं नोट ही चाहिए।

टिमरनी। बैंक में आई 1-1 रुपए की थैलियां।

किसान बोले- सिक्कों की थैलियां क्या सिर पर रखकर ले जाएं

एक-एक रुपए के सिक्कों की थैलियों का वितरण देख किसान अपना आपा खो बैठे। किसानों ने कहा हम यहां अपनी बेची गई उपज की राशि लेने के लिए आएं हैं। बैंक प्रबंधन किसानों के साथ मजाक कर रहा है। अब इन 4-4 थैलियों काे हम क्या सिर पर रखकर ले जाएं। इसके बाद व्यापारियों और जिनसे उधारी ली है, उन्हें चिल्लर बांटते फिरें। व्यापारी भी इतनी सारी चिल्लर लेने में आनाकानी करते हैं।

टिमरनी। बैंक शाखा के बाहर हंगामा करते किसान।

सौ किसानों की पासबुक जमा कराई

सोमवार सुबह से ही शाखा में राशि नहीं होने से किसानों की पासबुक जमा कराने की प्रक्रिया शुरू हो गई। दोपहर तक करीब 100 किसानों की पासबुक जमा कराई। जब हरदा से राशि आई तो उसका वितरण शुरू किया। इसमें करीब 2.50 लाख रुपए के 1-1 रुपए के सिक्के भी आए। इसका वितरण कैशियर ने शुरू किया। ताकि सभी को राशि भी मिल जाएं और सिक्के भी खत्म हो जाए।

एक करोड़ की डिमांड भेजी थी, मिले 80 लाख


X
कैशियर ने 2-2 हजार की चिल्लर थमाई तो किसानों ने किया हंगामा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..