Hindi News »Madhya Pradesh »Timarni» गोला, मैदा, सिगोन में रातभर दौड़ रहीं अवैध रेत से भरी ट्रालियां, हो रही राजस्व की हानि

गोला, मैदा, सिगोन में रातभर दौड़ रहीं अवैध रेत से भरी ट्रालियां, हो रही राजस्व की हानि

भास्कर संवाददाता | हंडिया/टिमरनी क्षेत्र में नर्मदा और गंजाल में अवैध उत्खनन का कार्य धड़ल्ले से चल रहा है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 07, 2018, 07:25 AM IST

गोला, मैदा, सिगोन में रातभर दौड़ रहीं अवैध रेत से भरी ट्रालियां, हो रही राजस्व की हानि
भास्कर संवाददाता | हंडिया/टिमरनी

क्षेत्र में नर्मदा और गंजाल में अवैध उत्खनन का कार्य धड़ल्ले से चल रहा है। हंडिया के गोला, मैदा और सिगोन में अवैध उत्खनन कर रेत से भरी ट्रालियां रातभर दौड़ रही हैं। इस कारण ग्रामीण परेशान हैं। वहीं खनिज विभाग को राजस्व की हानि हो रही है। अवैध रेत उत्खनन और उसका परिवहन हंडिया और टिमरनी क्षेत्र में एक बार फिर से शुरू हो गया है। अवैध रेत उत्खनन हंडिया के गोला, मैदा, सिगोन और टिमरनी के छीपानेर, लछोरा, नयागांव, गोंदागांव-गंगेश्वरी व धौलपुर में किया जा रहा है। रेत उत्खनन माफियाओं की मिलीभगत से किया जा रहा है। वे नर्मदा, गंजाल और क्षेत्र की अन्य नदियों से रेत, गिट्‌टी और मुरम का अवैध उत्खनन कर रहे हैं। रेत माफिया रात में ट्रैक्टर-ट्रॉली से रेत परिवहन कर रहे हैं।

नर्मदा व गंजाल में धड़ल्ले से जारी अवैध रेत खनन : नर्मदा और गंजाल में रेत माफिया सक्रिय है। इस कारण धड़ल्ले से अवैध रेत उत्खनन किया जा रहा है। हंडिया और टिमरनी क्षेत्र में सबसे अधिक उत्खनन किया जा रहा है। लेकिन प्रशासन और पुलिस का इस ओर ध्यान नहीं है। नर्मदा में पानी होने पर नाव से उत्खनन कर रहे थे, अब सूखने से रेत उत्खनन का कार्य और आसान हो गया है। अब उत्खनन जेसीबी और पोकलेन मशीन से किया जा रहा है।

हंडिया। क्षेत्र में चल रहा अवैध रेत उत्खनन।

उड़ती धूल से ग्रामीण परेशान

अवैध उत्खनन के कारण दिन-रात ट्रैक्टर-ट्रॉली और डंपरों की आवाजाही लगी रहती है। इस कारण जमकर धूल उड़ रही है। इससे सबसे अधिक ग्रामीण परेशान हैं। ग्रामीणों का कहना है अगर रास्ते में डंपर मिल गया तो आपका सड़क पर चलना मुश्किल है। उड़ती धूल का स्नान करना ही होगा। घरों में धूल जमा हो रही है। इतना ही नहीं ओवर लोडिंग के कारण सड़कें भी जर्जर हो गई हैं। इससे आए दिन हादसे हो रहे हैं।

इंदाैर-खंडवा जा रही रेत

नर्मदा और गंजाल से अवैध रेत उत्खनन में खनन माफिया इंदौर और खंडवा रेत की सप्लाई कर रहे हैं। इसके लिए पूरा नेटवर्क तैयार किया गया है। जरूरत के हिसाब से नेटवर्क के जरिए रेत को पहले तो ट्रैक्टर-ट्रॉली से नर्मदा किनारे से लाते हैं। यहां से तय स्थान पर एकत्रित किया जा रहा है। जहां से इंदौर, खंडवा, हरदा में जरूरत के हिसाब रेत का डंपर से परिवहन हो रहा है। खनन माफिया रेत के बदले में मनमाने दाम वसूल रहे हैं। इससे रॉयल्टी नहीं चुकानी पड़ रही है। इस कारण प्रशासन को राजस्व का नुकसान हो रहा है।

आप से जानकारी मिली है, कल ही क्षेत्र का दौरा करूंगी। अवैध उत्खनन करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अर्चना ताम्रकार, खनिज अधिकारी, हरदा

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Timarni

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×