• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Timarni News
  • मंडी में व्यापारियों ने गेहूं 1600, चना 3800 रु क्विंटल खरीदा, किसानों ने बंद कराई नीलामी
--Advertisement--

मंडी में व्यापारियों ने गेहूं 1600, चना 3800 रु क्विंटल खरीदा, किसानों ने बंद कराई नीलामी

मंडी में व्यापारियों द्वारा किसानों से समर्थन मूल्य से काफी कम दाम पर गेहूं व चना खरीदने पर मंगलवार को किसान भड़क...

Dainik Bhaskar

Apr 25, 2018, 07:55 AM IST
मंडी में व्यापारियों ने गेहूं 1600, चना 3800 रु क्विंटल खरीदा, किसानों ने बंद कराई नीलामी
मंडी में व्यापारियों द्वारा किसानों से समर्थन मूल्य से काफी कम दाम पर गेहूं व चना खरीदने पर मंगलवार को किसान भड़क गए। इसके बाद किसानों ने व्यापारियों पर मनमानी का आरोप लगाते हुए खरीदी का बहिष्कार कर दिया। किसानों ने चेतावनी दी कि जब तक मंडी में व्यापारी समर्थन मूल्य पर उपज की खरीदी नहीं करते, वे मंडी में नीलामी नहीं होने देंगे।

शासन सहकारी समितियों के माध्यम से समर्थन मूल्य पर गेहूं व चने की खरीदी कर रहा है, लेकिन किसान राशि की जरूरत को देखते हुए मंडी में व्यापारियों को उपज बेच रहे हैं। व्यापारी किसानों की कमजोरी का फायदा उठाते हुए कम दामों में उपज खरीद रहे हैं। मंगलवार को मंडी में जब व्यापारी ने गेहूं 1600 रु क्विंटल और चना 3800 रु क्विंटल खरीदा तो किसानों का आक्रोश फूट पड़ा। भड़के किसानों ने नीलामी का बहिष्कार कर दिया। सोडलपुर के किसान नीलेश सोलंकी ने बताया मंडी में व्यापारियों द्वारा किसानों को ठगा जा रहा है।

टिमरनी। मंडी में हंगामा करते किसान।

कुसुम वेयरहाउस पर नहीं हुई तुलाई

सहकारी समिति सोडलपुर के किसानों के लिए गेहूं खरीदी केंद्र कुसुम वेयर हाउस को बनाया है। लेकिन केंद्र पर नियमित रूप से खरीदी नहीं की जा रही है। इससे किसान परेशान हैं। इसके बाद मंगलवार को किसानों ने एसडीएम पीके पांडे से शिकायत की। किसानों ने बताया खरीदी केंद्र पर मात्र 10 हम्माल ही बचे हैं, ऐसे में केंद्र पर खड़ी 50 ट्रॉलियों की तुलाई कब तक पूरी होगी। समस्या सुनने के बाद एसडीएम ने तत्काल समिति प्रबंधक से बात कर व्यवस्था बनाने के लिए कहा। शिकायत करते समय सुभाष पटेल, मोहन सोलंकी, रामपाल सोलंकी, मोटू सोलंकी, धर्मेंद्र सोलंकी, महेंद्र कछवाह, प्रवीण सोलंकी, संतोष सोलंकी मौजूद रहे।

किसान बोले: अनिश्चितकाल तक नहीं होने देंगे नीलामी

उंद्राकच्छ के किसान राकेश पालीवाल का कहना है वे चना लेकर आए थे, लेकिन 3800 रुपए क्विंटल मिलने पर वे बेच नहीं सके। अगर ऐसा ही जारी रहा तो अच्छे उत्पादन का किसानों को फायदा नहीं मिलेगा। किसान गंगराम गुर्जर ने बताया कम दाम मिलने पर किसानों ने फैसला लिया कि जब तक किसानों से मंडी में समर्थन मूल्य पर उपज नहीं खरीदी जाती वे अनिश्चितकाल के लिए नीलामी का बहिष्कार करते रहेंगे।

माल मानक स्तर का नहीं होने पर कम दाम मिल रहे हैं



X
मंडी में व्यापारियों ने गेहूं 1600, चना 3800 रु क्विंटल खरीदा, किसानों ने बंद कराई नीलामी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..