• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Ujjain
  • पानी के लिए पानी की तरह बहा पैसा, दो विधायक निधि और स्वैच्छा अनुदान निधि भी हो गई खत्म
--Advertisement--

पानी के लिए पानी की तरह बहा पैसा, दो विधायक निधि और स्वैच्छा अनुदान निधि भी हो गई खत्म

Ujjain News - चुनावी साल होने के चलते जनता को रिझाने के लिए जिले की दोनों विधानसभा के विधायकों ने सार्वजनिक कार्यों सहित...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 05:35 AM IST
पानी के लिए पानी की तरह बहा पैसा, दो विधायक निधि और स्वैच्छा अनुदान निधि भी हो गई खत्म
चुनावी साल होने के चलते जनता को रिझाने के लिए जिले की दोनों विधानसभा के विधायकों ने सार्वजनिक कार्यों सहित मुसीबतों से जूझ रहे लोगों के लिए इस बार दिल खोल के खर्च किया। यही कारण है मार्च शुरू होने के पूर्व ही 99 प्रतिशत विधायक व स्वेच्छानुदान निधि का उपयोग हो चुका है। आगर विधानसभा क्षेत्र के विधायक ने तो अपने क्षेत्र में विकास कार्यों तथा जनहित में पूरी निधि ही खर्च कर दी है। करीब एक माह पूर्व से ही इनके द्वारा पूरी निधि का उपयोग कर लिया गया था। अब इनके खाते में शेष राशि शून्य है।

जानकारी अनुसार शासन की ओर से विधानसभा क्षेत्र में सार्वजनिक विकास कार्यों तथा लोगों के हितों के लिए कार्य करने प्रत्येक विधायक को 1 करोड़ 85 लाख रुपए विधायक तथा 15 लाख रुपए स्वेच्छानुदान के लिए मिलते हैं। यह राशि एक वर्ष के लिए मिलती है। आगर विधानसभा में विधायक गोपाल परमार द्वारा दोनों मद से मिली राशि का उपयोग कर लिया गया है। अब नया बजट आने के करीब 2 माह पूर्व ही दोनों मद में राशि खत्म हो चुकी है। सुसनेर विधानसभा की बात करें तो यहां अभी विधायक निधि में करीब 22 लाख रुपए शेष हैं। साथ ही स्वेच्छानुदान में भी 1 लाख रुपए ही शेष है। हालांकि एक माह के भीतर राशि का उपयोग कर लिए जाने की बात कही जा रही है। यदि इस माह राशि का उपयोग नहीं किया जाता है तो यह राशि लैप्स हो जाएगी।सुसनेर विधायक मुरलीधर पाटीदार ने भी अपने विधानसभा क्षेत्र में काफी जनहित के कार्य करवाए हैं। बारिश में पानी रोकने का प्रबंध करवाने के लिए विधायक ने कई गांवों में स्टॉपडेम निर्माण के लिए राशि खर्च की है। इसी के साथ विधायक ने यात्री प्रतीक्षालय, पुलिया आदि कार्यों में राशि खर्च की है।

अप्रैल में आएगा नया बजट

मार्च समाप्त होने के बाद नया वित्तीय वर्ष शुरू होते ही विधानसभा क्षेत्र में एक बार फिर से विधायक निधि तथा स्वेच्छानुदान को मिलाकर कुल 2 करोड़ रुपए विधायकों को जनहित में खर्च करने के लिए दिए जाएंगे। अब, जबकि यह चुनावी वर्ष है और वर्ष के अंत में प्रदेश में चुनाव होना है, इसलिए इस राशि को खर्च करने में विधायकों को काफी कम समय मिलेगा। इसलिए उम्मीद लगाई जा रही है कि जितना भी समय इस राशि को खर्च करने में मिलेगा, उस राशि से एक ओर जहां क्षेत्र में कुछ अच्छे विकास कार्य हो सकते हैं। वहीं दूसरी ओर परेशानी से जूझ रहे गरीब तबके के लोगों को भी आर्थिक सहायता मिल जाएगी।

आगर विधायक ने पानी पर दिया विशेष जोर

आगर विधायक परमार ने इस बार मिली विधायक निधि से कई जरूरी विकास कार्य करवाए, लेकिन सबसे ज्यादा प्रमुखता पानी को दी। उन्होंने अपने क्षेत्र में गर्मी को देखते हुए कहीं बोरवेल की व्यवस्था करवाई तो कहीं पानी की टंकी का निर्माण करवाया है। इसी प्रकार पशुओं को लेकर पानी के प्रबंध करते हुए पानी की ठेल भी कई गांवों में बनवाई है। साथ ही अन्य जरूरी काम भी विधायक द्वारा अपने क्षेत्र मे करवाए गए हैं।

नई निधि दोनों विधानसभा क्षेत्रों में आ जाएगी


X
पानी के लिए पानी की तरह बहा पैसा, दो विधायक निधि और स्वैच्छा अनुदान निधि भी हो गई खत्म
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..