• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • बढ़ते जलसंकट से निपटने के लिए नगर परिषद कराएगी जल परिवहन
--Advertisement--

बढ़ते जलसंकट से निपटने के लिए नगर परिषद कराएगी जल परिवहन

नगरीय क्षेत्र में तेजी से गिरते भू-जल स्तर के कारण जलसंकट की समस्या शुरू होने लगी है। नगर परिषद ने गर्मी के माैसम...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 05:45 AM IST
नगरीय क्षेत्र में तेजी से गिरते भू-जल स्तर के कारण जलसंकट की समस्या शुरू होने लगी है। नगर परिषद ने गर्मी के माैसम में बढ़ते जलसंकट से निपटने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। परिषद ने टैंकरों से जल परिवहन करने के लिए टेंडर बुलवाए हैं। परिषद ने अपने स्तर से भी जलसंकट से निपटने जिन वार्डों में पानी की समस्या पैदा हो रही है, वहां नलकूप खनन करवाए हैं। 4 में से सिर्फ 2 ही जगहों पर पानी पर्याप्त निकला है।

नगर परिषद सीएमअो ओ.पी. नागर के अनुसार नगर के वार्ड 4, 10, 12 और 13 में एक-एक नलकूप खनन कराया गया है। सभी जगहों पर 300 से 450 फीट के लगभग खनन किया गया। वार्ड 12 और 13 में, तो पर्याप्त पानी निकला है। शेष दो जगहों पर किए गए नलकूपों में पर्याप्त पानी नहीं निकलने के कारण हैंडपंप लगाए जाएंगे।

हर बार की तरह इस वर्ष भी नगर के बाहरी क्षेत्र डाक बंगला से जलसंकट ने दस्तक दी है। वार्ड 10, 11 में छह दिनों बाद भी नल-जल योजना से रहवासियों को पानी नहीं मिल पाया। उधर नगर परिषद के पांच नलकूपों में से तीन में पानी आना बंद हो गया। अब नगरवासियों को पानी उपलब्ध कराना परिषद के लिए चुनौती से कम नहीं। नगर परिषद कुछ निजी नलकूपों की मदद लेने लगी है।

नगरीय क्षेत्र की आबादी 16 हजार के लगभग है। जो पानी नल-जल योजना के माध्यम से प्रदाय किया जा रहा है, नगरवासियों को वह भी पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रहा। अभी नगर परिषद द्वारा तीन दिन छोड़कर नलों से जलप्रदाय किया जा रहा है। वह भी पर्याप्त नहीं हाेने से लोगों को परेशानी हो रही है।

शासन से परिवहन की भी मांग की जा रही है