• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • प्रतिबंध के बाद भी किसान खेतों में जला रहे नरवाई
--Advertisement--

प्रतिबंध के बाद भी किसान खेतों में जला रहे नरवाई

खेतों में इन दिनों गेहूं उपज की कटाई चल रही है। प्रशासन द्वारा खेतों में नरवाई जलाने पर प्रतिबंध लगाया। इसके...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:50 AM IST
खेतों में इन दिनों गेहूं उपज की कटाई चल रही है। प्रशासन द्वारा खेतों में नरवाई जलाने पर प्रतिबंध लगाया। इसके बावजूद किसान इसकी अनदेखी कर रात के समय खेतों में आग लगा रहे हैं। इससे बड़ी घटना का अंदेशा है। क्षेत्र के करीब 90 फीसदी खेतों में गेहूं फसल की कटाई का काम पूरा हो गया है। उपज किसानों ने घर पहुंचा दी है। अब खेतों में नरवाई जलाई जा रही है।

बडिया, अमरकोट, गैलाना, खैराना, गणेशपुरा, कीटखेड़ी सहित अन्य गांवों में खेतों में रात के समय आग लगाने से अन्य खेतों में नुकसान के साथ मिट्टी के पोषक तत्वों पर भी असर पड़ रहा है। कृषि विकास विभाग के उपसंचालक आर पी कनेरिया के अनुसार समय-समय पर कार्यक्रम आयोजित कर किसानों को नरवाई नहीं जलाने की सलाह दी जाती है। किसान खेतों की नरवाई नहीं जलाए। इसका प्रबंधन करें। इससे बगदा बनाकर किसान आमदनी बढ़ा सकते हैं। करीब 1 हजार रुपए खर्च में एक ट्रॉली में करीब 10 क्विंटल बगदा बनता है। इसे 200 से 300 रु. क्विंटल के हिसाब से बेच सकते हैं, लेकिन संसाधनों की कमी के कारण किसान इसका उपयोग नहीं कर रहे हैं।