• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Ujjain
  • पुलिस को नहीं मिले ड्राइवर कंडक्टर, फोन पर बोला खराब सड़क के कारण हादसा हुआ, उज्जैन से निकली थी बस
--Advertisement--

पुलिस को नहीं मिले ड्राइवर-कंडक्टर, फोन पर बोला- खराब सड़क के कारण हादसा हुआ, उज्जैन से निकली थी बस

Ujjain News - उज्जैन से सुबह 6 बजे चलने वाली निजी बस के ड्राइवर ने सिर्फ 10 मिनट का अंतराल खत्म करने के लिए गुरुवार को दर्जनों...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 05:50 AM IST
पुलिस को नहीं मिले ड्राइवर-कंडक्टर, फोन पर बोला- खराब सड़क के कारण हादसा हुआ, उज्जैन से निकली थी बस
उज्जैन से सुबह 6 बजे चलने वाली निजी बस के ड्राइवर ने सिर्फ 10 मिनट का अंतराल खत्म करने के लिए गुरुवार को दर्जनों यात्रियों की जान खतरे में डाल दी। तेज रफ्तार बस में बैठे यात्री बस धीरे चलाने का कहते रहे पर ड्राइवर ने किसी की नहीं सुनी। नतीजतन सुबह 8 से 8.30 बजे के बीच शाजापुर से 10 किमी पहले ग्राम बंजारी के पास निर्माणाधीन हाईवे का कच्चा हिस्सा आते ही बस असंतुलित होकर पलट गई। इससे 14 यात्री घायल हो गए। बताया जा रहा है मक्सी के पहले बस रोककर कंडक्टर खुद ड्राइवर बन बस चलाने लगा। हादसे की सूचना मिलते ही एएसपी सहित मक्सी और लालघाटी पुलिस पहुंची और घायलों को एम्बुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचाया। यहां 14 में से 8 यात्रियों को भर्ती किया गया, जबकि 6 का प्राथमिक इलाज कर छुट्टी कर दी गई।

दौड़कर पहुंचे ग्रामीण : बस पलटती देख वहां खड़े ग्रामीणों ने भी दौड़ लगा दी। बस के अंदर के यात्रियों और ग्रामीणों ने कांच फोड़कर घायलों को बाहर निकाला। प्रत्यक्षदर्शी राजाराम ने बताया सड़क का सीमेंट-कांक्रीट का हिस्सा खत्म होते ही बस लहराते हुए पलट गई। वहीं बस में सवार मंजूबाई ने बताया मुरम के ढेर से टकराकर बस नहीं रुकती, तो जान जा सकती थी।

यात्री चिल्लाते रहे पर कम नहीं की रफ्तार, रास्ते में कंडक्टर बन गया ड्राइवर और तेज चलाने लगा, बस पलटी, 14 घायल

कांच फोड़कर बाहर निकाला घायलों को, मुरम का ढेर नहीं होता तो हो सकता था बड़ा हादसा

बस की रफ्तार कम करने के लिए चिल्लाते रहे यात्री

जिला अस्पताल में भर्ती घायल यात्री राहुल वर्मा निवासी उज्जैन ने बताया बस निकलने में 15 मिनट लेट हो गई। इसके बाद डालडा चौराहे तक यात्रियों को बैठाया गया। पूरी बस भरने के बाद ड्राइवर ने बस की रफ्तार तेज कर दी। मक्सी पहुंचने से पहले कंडक्टर ही बस चलाने लगा। उसने बस की गति और तेज कर दी। कई बार धीरे चलाने का कहा पर नहीं माना।

ड्राइवर बोला- सड़क पर मटेरियल के कारण हादसा

ड्राइवर और कंडक्टर की हादसे के तीन घंटे के बाद तक भी पुलिस तलाश नहीं कर पाई। पुलिस के अनुसार दोनों फरार हैं, लेकिन भास्कर ने ड्राइवर को भी ढूंढ निकाला। वह उज्जैन के एक अस्पताल में भर्ती था। ड्राइवर दिनेश के मोबाइल नंबर पर बात की गई तो उसने बताया हाईवे पर पड़ी सड़क निर्माण सामग्री के कारण बस का नियंत्रण बिगड़ गया था।

14 साल की माया की कोशिश देख ग्रामीणों ने फोड़े कांच, घायल निकाले

हादसे के बाद चीख-पुकार से बस गूंज उठी, तभी बस में बैठी 14 साल की माया ने बस के कांच को लात मारकर तोड़ने की कोशिश की। माया का यह प्रयास देख ग्रामीणों ने भी बाहर की तरफ से पत्थर मारकर कांच फोड़े और घायलों को निकाला।

दुर्घटना में यह हुए घायल

दुर्घटना में गौरव तिवारी (21) शाजापुर, इशाक खां (64) गुलाना, कैलाश पिता बाबूलाल (56) उज्जैन, रूपेश जोशी (38) तराना, एलिस डेविल (30) उज्जैन, गरिमा पिता मुकेश (6) नैनावद, माही व्यास (20) एबी रोड शाजापुर, दुर्गाप्रसाद रामलाल (45) राजगढ़, माया पिता मोहन (14) जलोदा, नेतल बाई (16) जलोदा, सुनीता मनोहर मालवीय (40) उज्जैन, मंजू पति मोड़सिंह (38) उज्जैन, शांतिबाई पति श्यामलाल (50) उज्जैन, राहुल पिता श्याम लाल (21) उज्जैन घायल हो गए।

तत्काल जांच, तीन बस जब्त

हादसे के बाद एएसपी ज्योतिसिंह ठाकुर मौके पर पहुंचीं। घायलों को अस्पताल पहुंचाया। इसके बाद यातायात पुलिस को सभी बसों की जांच के निर्देश दिए। इस दौरान तीन बसों को बिना परमिट पाए जाने पर लाइन में खड़ा करवा दिया। छोटे लोडिंग चालक को भी नशे की स्थिति में पकड़कर मेडिकल कराया गया।

X
पुलिस को नहीं मिले ड्राइवर-कंडक्टर, फोन पर बोला- खराब सड़क के कारण हादसा हुआ, उज्जैन से निकली थी बस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..