• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • भास्कर का सवाल- क्या अफसर जनप्रतिनिधियों की बात नहीं सुनते
--Advertisement--

भास्कर का सवाल- क्या अफसर जनप्रतिनिधियों की बात नहीं सुनते

सांसद डॉ.चिंतामणि मालवीय ने शुक्रवार को दिशा (जिला विकास समन्वय निगरानी समिति) की बैठक में नाराजगी जताई थी कि...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 05:55 AM IST
सांसद डॉ.चिंतामणि मालवीय ने शुक्रवार को दिशा (जिला विकास समन्वय निगरानी समिति) की बैठक में नाराजगी जताई थी कि अफसरों का रूख ठीक नहीं है। भूमिपूजन व अन्य कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों को नहीं बुलाया जा रहा है। जिन बैठकों को जनप्रतिनिधि लेते हैं, उनमें अफसर नहीं आते हैं। इस बारे में भास्कर ने ऊर्जा मंत्री व जिले के सभी विधायकों से बात की। महिदपुर विधायक बचते रहे लेकिन बाकी विधायकों ने कहा कि उनके साथ में एेसी कोई स्थिति नहीं है। अधिकारी बैठक में आते हैं, उनकी बातों को गंभीरता से लिया जाता है। इससे यह साफ हो गया है कि विधायकों की अधिकारी सुनते हैं, उनकी बातों को नजर अंदाज नहीं किया जाता है।

सांसद ने बैठक में अफसरों को लेकर जताई थी नाराजगी लेकिन मंत्री-विधायक का जवाब कुछ और ही

मैं तो जिस अधिकारी से जो कहता हूं, उसे सुना जाता है। उसका समाधान भी होता है। मेरे साथ तो ऐसी कोई बात नहीं है। -पारस जैन ऊर्जा मंत्री

जनता से जुड़े विषय जब भी अफसरों के सामने रखता हूं, गंभीरता से लिया जाता है। प्रोटोकॉल के हिसाब से कार्यक्रमों में बुलाया जाता है। - डॉ.मोहन यादव विधायक, दक्षिण

मेरे साथ में तो ऐसा कभी नहीं हुआ कि अधिकारियों ने नजर अंदाज किया हो। प्रोटोकॉल के तहत बुलाया जाता है। - अनिल फिरोजिया विधायक, तराना

मंत्री-विधायक का जवाब- हमारे साथ तो ऐसी स्थिति कभी नहीं बनी

मेरे साथ में तो ऐसी स्थिति कभी नहीं बनी है। अधिकारी हमारी बात सुनते हैं। बातों को नजर अंदाज करने जैसी कोई बात नहीं है।

- सतीश मालवीय, विधायक, घट्टिया

मुझे तो कभी भी ऐसा नहीं लगा कि कोई अधिकारी हमारी बात नहीं सुन रहे हो। प्रोटोकॉल के हिसाब से सब ठीक चल रहा है। - मुकेश पंडया, विधायक, बड़नगर

मेरे विधानसभा क्षेत्र में तो ऐसी कोई स्थिति नहीं है। अधिकारी सुनते भी हैं और उन बातों पर अमल भी होता है। - दिलीप सिंह शेखावत विधायक, नागदा

मैं अभी इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने की स्थिति में नहीं हूं। आप अगर 10 बार भी यह सवाल पूछोगे तो भी मैं यही कहूंगा।

- बहादुरसिंह चौहान विधायक, महिदपुर

अब बदले सुर

पूरा प्रशासनिक नियंत्रण है, अधिकारी भी सुनते हैं

सांसद डॉ.चिंतामणि मालवीय ने कहा पूरा प्रशासनिक नियंत्रण हैं। अधिकारी बात सुनते हैं। दिशा की बैठक में अधिकारी कम थे, इसलिए कहा था। मैं समिति का चेयरमैन हूं। बैठक का समापन किया था, उठकर नहीं गया। गौरतलब है सांसद की ओर से उस दिन जारी विज्ञप्ति में बताया गया था कि सांसद नाराज होकर बैठक छोड़कर गए।