Hindi News »Madhya Pradesh »Ujjain» बाल हनुमान के जुलूस में शहरवासियों को दिया हिंदू-मुस्लिम एकता का संदेश

बाल हनुमान के जुलूस में शहरवासियों को दिया हिंदू-मुस्लिम एकता का संदेश

बाबा बाल हनुमान के चल समारोह का विभिन्न स्थानों पर स्वागत किया गया। 40 फीट लंबी ट्राॅली पर राम-लक्ष्मण को शबरी के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 05:55 AM IST

बाल हनुमान के जुलूस में शहरवासियों को दिया हिंदू-मुस्लिम एकता का संदेश
बाबा बाल हनुमान के चल समारोह का विभिन्न स्थानों पर स्वागत किया गया।

40 फीट लंबी ट्राॅली पर राम-लक्ष्मण को शबरी के झूठे बैर खाते दिखाया, तोपखाने में पुष्पवर्षा

उज्जैन | हनुमान जन्मोत्सव पर शनिवार को नगर में निकले महाकाल मंदिर के प्रसिद्ध बाल हनुमान के जुलूस में लोगों को सामाजिक समरसता से लेकर हिंदू-मुस्लिम एकता का प्रेरक संदेश मिला। शाम 7 बजे पुजारी सुलभ शांतु गुरु महाराज सहित आमंत्रित अतिथियों ने बाबा की महाआरती की। इसके पश्चात बैंड, ढोल, बग्घी व लाल, सिंदूरी ध्वजाओं के साथ जुलूस आरंभ हुआ। पालकी में बाबा की चांदी की प्रतिमा विराजमान थी। 40 फीट लंबी ट्रॅाली पर राम-लक्ष्मण द्वारा झोपड़ी में बैठकर शबरी के झूठे बैर खाने के दृश्य ने आज के समय में लोगों के बीच सामाजिक समरसता का संदेश प्रसारित किया। वहीं दूसरी झांकी में राम द्वारा बाण चलाकर रावण और तीसरी झांकी में बाल हनुमान की प्रतिकृति के आगे मंडली द्वारा सुंदरकांड की प्रस्तुति ने मंत्र मुग्ध किया। सुबह 9 बजे जन्मआरती कर 151 किलो बूंदी का भोग लगाकर दिनभर प्रसाद वितरण किया गया। शाम 6.30 बजे बालयोगी उमेशनाथ महाराज, भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रदीप जोशी, इकबालसिंह गांधी, योगेश शर्मा ने बाबा की आरती व पालकी पूजन किया। महाकाल मंदिर चौराहा से जुलूस तोपखाना पहुंचा, जहां मुस्लिम समाज की ओर से पुष्पवर्षा कर मंच से सुलभ शांतुगुरु सहित बाल हनुमान भक्त मंडल के बंटी भदौरिया, अंजनेश शर्मा, हस्तीमल नाहर, प्रवीण ठाकुर आदि का रईस लाला, मुजफ्फर हुसैन, मुजीब सुपारीवाला आदि मुस्लिम समाज के लोगों ने साफा बांधकर सम्मान करते हुए सांप्रदायिक एकता की मिसाल पेश की।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ujjain

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×