• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • होटल में सर्वे की कार्रवाई के बाद पांच लाख का टैक्स जमा
--Advertisement--

होटल में सर्वे की कार्रवाई के बाद पांच लाख का टैक्स जमा

जीएसटी लागू होने के बाद शहर में हुई पहली कार्रवाई में लाखों रुपए के सर्विस टैक्स की राशि बकाया निकली है। सर्चिंग...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 06:00 AM IST
जीएसटी लागू होने के बाद शहर में हुई पहली कार्रवाई में लाखों रुपए के सर्विस टैक्स की राशि बकाया निकली है। सर्चिंग की कार्रवाई पूरी होने के बाद होटल संचालक ने पांच लाख रुपए की राशि जमा करवाई है। वहीं इसी महीने होटल संचालक से 15 लाख रुपए की राशि आैर जमा करवाई जाएगी। इधर सर्वे में प्राप्त दस्तावेजों के आधार पर अधिकारी अब सर्विस टैक्स आैर जीएसटी की बकाया राशि की गणना में लग गए हैं।

सोमवार को सेंट्रल गुड्स एंड सर्विस टैक्स (सीजीएसटी) के डिप्टी कमिश्नर (एंटी इवेजन) आकाश सिंघई के साथ एक दर्जन से ज्यादा अधिकारियों ने विक्रमादित्य होटल में सर्वे की कार्रवाई की थी। आधी रात तक अधिकारियों का दल यहां दस्तावेजों की पड़ताल में जुटा रहा। सर्वे के दौरान कई गड़बड़ियां सामने आई। डिप्टी कमिश्नर (एंटी इवेजन) सिंघई के अनुसार होटल प्रबंधन ने वर्ष 2016-17 में सर्विस टैक्स का कोई भुगतान जमा नहीं करवाया। इसके अलावा वर्ष 2013-14, 2014-15 आैर 2015-16 में भी काफी कम राशि जमा करवाई गई। साथ ही 2014 से रिटर्न भी जमा नहीं करवाया। इन सभी आधारों पर होटल संचालक ने पांच लाख रुपए की राशि प्रारंभिक तौर पर जमा करवाई है। साथ ही मार्च अंत तक 15 लाख रुपए की राशि आैर जमा करने का भरोसा दिया है। सिंघई ने बताया होटल विक्रमादित्य के मामले में असेस्मेंट का कार्य अभी भी चल रहा है। इसके पूरा होने के बाद सर्विस टैक्स आैर जीएसटी की बकाया राशि का वास्तविक आंकड़ा सामने आ पाएगा।

सर्विस टैक्स के पुराने रिकॉर्ड खंगाल रहे अधिकारी

जीएसटी लागू होने के बाद उज्जैन में सर्वे की पहली कार्रवाई ने व्यापारियों ने भी खलबली मचा दी है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक जीएसटी लागू होने से पहले सर्विस टैक्स जमा नहीं कराने वाले सभी व्यापारियों की जानकारी खंगाली जा रही है। जिन व्यापारियों ने सर्विस टैक्स जमा नहीं करवाया, अब उनकी फर्मों पर सर्वे करके पैनल्टी के साथ राशि वसूल करने की कार्रवाई की जाएगी।