• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • गर्भवती महिला की मौत के मामले में परिजन बोले न्याय नहीं मिला, 9 को करेंगे चक्काजाम
--Advertisement--

गर्भवती महिला की मौत के मामले में परिजन बोले न्याय नहीं मिला, 9 को करेंगे चक्काजाम

गर्भवती महिला की मौत के मामले में जिला अस्पताल कमेटी की जांच रिपोर्ट से परिजनों में नाराजगी है। पिता जितेंद्र...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 06:05 AM IST
गर्भवती महिला की मौत के मामले में जिला अस्पताल कमेटी की जांच रिपोर्ट से परिजनों में नाराजगी है। पिता जितेंद्र कुमार बंसोड़े ने कहा कि हमें न्याय नहीं मिला है। 9 अप्रैल को चामुंडा माता चौराहे पर चक्काजाम किया जाएगा। उन्होंने आत्मदाह की चेतावनी भी दी है। उनका आरोप है कि अस्पताल प्रशासन स्टाफ को बचाने में लगा है। पहले बेटी की मौत का कारण हार्ट अटैक बताया गया और फिर चूहा मार दवा खाना बता दिया। ध्यान रहे कि चरक अस्पताल में 19 फरवरी की रात गर्भवती नैना पति विशाल जोशी उम्र 21 वर्ष निवासी गणेश कॉलोनी जयसिंहपुरा की मौत हो गई थी। उसे पेट में दर्द होने पर परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे थे। परिजनों ने उपचार में लापरवाही बरतने व स्टाफ पर रुपए मांगने के आरोप लगाए लगाते हुए हंगामा किया था। उसके बाद पुलिस ने तीन डॉक्टर की पैनल से महिला का पीएम करवाया था। सिविल सर्जन डॉ.राजू निदारिया ने कमेटी गठित कर जांच करवाई। जिसमें महिला को चूहामार दवा खाने से जिला अस्पताल में भर्ती किया जाना बताया गया। इसको लेकर परिजनों में नाराजगी है। उन्होंने अस्पताल प्रशासन पर स्टाफ को बचाने के आरोप लगाया है।

89 करोड़ राजस्व वसूला

उज्जैन | आरटीओ कार्यालय को वित्तीय वर्ष में 82 करोड़ टैक्स व राजस्व वसूली का लक्ष्य मिला था। एवज आरटीओ की टीम ने 89 करोड़ रुपए वसूले। आरटीओ संतोष मालवीय ने बताया कि वसूली में प्रदेश में जिला छटे नंबर पर है जबकि संभाग में पहले नंबर पर। प्रदेशभर के जिलों से शासन को राजस्व के रूप में 2800 करोड़ जमा हुए हैं। इनमें से 89 उज्जैन जिले के हैं।