• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • अब किसानों को मिल सकेगा फसल बीमा का क्लेम, एक करोड़ 81 लाख रुपए बैंक में जमा, सीधे किसानों के खाते में आएगी राशि
--Advertisement--

अब किसानों को मिल सकेगा फसल बीमा का क्लेम, एक करोड़ 81 लाख रुपए बैंक में जमा, सीधे किसानों के खाते में आएगी राशि

32 गांवों के 1022 किसान गलत पोस्टिंग से मौसम आधारित फसल बीमा राशि से वंचित हो गए थे। उन्हें फसल बीमा के 1 करोड़ 81 लाख 41...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 07:40 AM IST
32 गांवों के 1022 किसान गलत पोस्टिंग से मौसम आधारित फसल बीमा राशि से वंचित हो गए थे। उन्हें फसल बीमा के 1 करोड़ 81 लाख 41 हजार रुपए मिलना है। भास्कर ने 23 फरवरी को यह मामला उठाया था। उसके बाद अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने राशि दिलाने के लिए मशक्कत शुरू की।

एचडीएफसी एग्रो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड ने फसल बीमा की राशि बैंक ऑफ इंडिया में जमा करवा दी है। इंश्योरेंस कंपनी के वरिष्ठ प्रबंधक ने उद्यानिकी विभाग के उपसंचालक व प्रक्षेत्र वानिकी को पत्र भी जारी कर दिया है। जिसमें लिखा है कि रबी वर्ष 2016-17 के अंतर्गत 1 करोड़ 81 लाख 41 हजार का भुगतान बैंक ऑफ इंडिया शाखा ढाबलाहर्दू में एनईएफटी से किया है। तराना विधायक अनिल फिरोजिया ने बताया गलत पोस्टिंग की वजह से किसानों को फसल बीमा की राशि नहीं मिल पाई थी। इसके लिए उज्जैन से लेकर भोपाल तक प्रयास किए। इंश्योरेंस कंपनी के अधिकारियों के खिलाफ पुलिस में गए। उसके बाद 27 फरवरी को फसल बीमा की राशि बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में जमा हो गई।

अब यह राशि सीधे किसानों के खातों में जमा होगी। ध्यान रहे कि 32 गांवों के 1984 किसानों का वर्ष 2016-17 में धनिया, आलू, लहसुन की फसल का मौसम आधारित फसल बीमा एचडीएफसी एग्रो जन इंश्योरेंस कंपनी भोपाल द्वारा बैंक ऑफ इंडिया शाखा ढाबलाहर्दू में किया गया था। जिसमें आलू की फसल खराब होने पर 1022 किसानों का बीमा क्लेम मंजूर हुआ था।

भास्कर ने मुद्दा उठाया तो अधिकारी व जनप्रतिनिधि जागे व फसल बीमा की राशि बैंक में जमा करवाई

अभी भी यह है परेशानी: किसानों की सूची बैंक के पास नहीं पहुंची

किसानों का कहना है कि फसल बीमा की राशि तो आ गई है लेकिन लाभान्वित किसानों की सूची अब तक बैंक में नहीं आई है। ऐसे में बैंक किसानों के खाते में राशि नहीं डाल पा रही है।

ऐसे उलझी थी फसल बीमा राशि

एचडीएफसी एग्रो इंश्योरेंस कंपनी ने बैंक को फसल बीमा की राशि बैंक में जमा करना बता दिया था। जबकि बैंक में यह राशि जमा नहीं हुई थी। कंपनी की ओर से उपसंचालक उद्यानिकी एवं प्रक्षेत्र वानिकी जिला उज्जैन को पत्र भी लिख दिया गया कि 1984 बीमित किसानों में से पात्र 1022 किसानों के बीमा दावों का भुगतान संबंधित बैंक शाखा को कर दिया है। बैंक ऑफ इंडिया- प्रबंधन ने स्पष्ट किया कि उन्हें फसल बीमा की कोई राशि नहीं मिली है। इसके लिए उन्हेांने वरिष्ठ प्रबंधक एचडीएफसी एग्रो जन इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड एमपी नगर भोपाल को पत्र लिखा कि जिला उज्जैन वेदर स्टेशन के तहत 32 गांवों के किसानों को आलू की फसल के लिए दी जाने वाली बीमा राशि 1 करोड़ 81 लाख 41 हजार रुपए 21 फरवरी तक बैंक को प्राप्त नहीं हुई है।