• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • आज से मरीजों को एडवांस ट्रामा लाइफ सपोर्ट में इलाज
--Advertisement--

आज से मरीजों को एडवांस ट्रामा लाइफ सपोर्ट में इलाज

मरीजों के लिए गुरुवार से चिकित्सा सुविधाओं में इजाफा होने जा रहा है। एडवांस ट्राॅमा लाइफ सपोर्ट यानी एटीएलएस 102...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 07:40 AM IST
मरीजों के लिए गुरुवार से चिकित्सा सुविधाओं में इजाफा होने जा रहा है। एडवांस ट्राॅमा लाइफ सपोर्ट यानी एटीएलएस 102 एम्बुलेंस में मरीजों को जहां मौके से ही इलाज मिलना शुरू हो जाएगा, वहीं दिव्यांग जन फिजियोथैरेपी करवा सकेंगे। सीनियर सिटीजन व दिव्यांग जनों को कॉल पर 13 सीटर बस भी उपलब्ध हो सकेगी।

जिला विकलांग पुनर्वास केंद्र का विधिवत शुभारंभ भी होगा। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत गुरुवार को जिला अस्पताल परिसर में इन सुविधाओं की शुरुआत करेंगे। कलेक्टर संकेत भोंडवे बुधवार को इसकी तैयारियां देखने के लिए पहुंचे। उनके सामने एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस का डेमो किया। सिविल सर्जन डॉ.राजू निदारिया ने बताया एडवांस लाइफ सपोर्ट वाली एम्बुलेंस में मरीजों को आईसीयू की सभी चिकित्सा मिलेगी। दो एम्बुलेंस जिला अस्पताल को मिली है। इनमें ऐसे डॉक्टर को रखा जाएगा जो आईसीयू की चिकित्सा दे सकते हैं। कम्पाउंडर, स्टाफ नर्स, लैब टेक्नीशियन व वार्ड बाॅय आदि वाहन में होंगे। मरीज को हार्ट अटैक आता है या अन्य वजह से अति गंभीर हो जाता है तो उसे एडवांस लाइफ सपोर्ट पर रखा जाएगा। इसमें वेंटिलेटर भी होगा। इस तरह की सुविधा केवल निजी बड़े अस्पतालों में ही है।

वेंटिलेटर व डी-फेब्रीलेटर सुविधाओं से लैस है एम्बुलेंस।

खून की जांच, ब्लड प्रेशर, ईसीजी भी होगी

एटीएलएस सुविधा

वाहन में वेंटिलेटर है। गंभीर या अति गंभीर मरीज को आवश्यकता पर वेंटिलेटर पर रखा जाएगा। हार्ट अटैक आने पर मरीज को यहां उपचार मिल जाएगा। डी-फेब्रीलेटर लगाया जाएगा। आईसीयू की इमरजेंसी सुविधा मॉनिटर व डीसी आदि होने से आईसीयू की सुविधाएं वाहन में ही मिल जाएगी। ब्लड आदि की जांच हो जाएगी। बीपी नापा जा सकेगा। इसके आवश्यक उपकरण लगे हैं। ईसीजी सुविधा भी होगी।

ऐसे मिलेगी

जिला अस्पताल के कंट्रोल रूप के टेलीफोन नंबर 2550017 पर या मोबाइल नंबर 9827278174 पर फोन लगाना होगा। मरीज की स्थिति व लोकेशन बताना होगी। उसके बाद एम्बुलेंस मौके पर पहुंच जाएगी। मरीज को वाहन में लेते ही उसका उपचार शुरू कर दिया जाएगा।

जिला विकलांग पुनर्वास केंद्र

जिला अस्पताल परिसर में स्थित जिला विकलांग पुनर्वास केंद्र का भी गुरुवार को लोकार्पण होगा। इसका संचालन पुराने शिशु वार्ड भवन के समीप किया जाएगा। जिले के दिव्यांग जनों को यहां उपचार सहित अन्य सुविधाएं मिलेगी। उन्हें यहां से कृत्रिम अंग उपलब्ध हो सकेंगे। इसके अलावा कान से सुनाई नहीं देने वालों को मुफ्त में मशीन दी जाएगी। ट्राईसिकल आदि भी दी जाएगी।

फिजियोथैरेपी सेंटर

दिव्यांगों के लिए फिजियोथैरेपी सेंटर भी गुरुवार से शुरू किया जा रहा है। यहां फिजियोथैरेपी की सभी मशीनें लगाई गई है। जिन पर फिजियोथैरेपी की जा सकेगी। यह सुविधा शुरू होने से दिव्यांगजन को निजी सेंटर पर शुल्क चुकाकर फिजियोथेरेपी करवाने के लिए नहीं जाना पड़ेगा। यहां यह सुविधा मुफ्त रहेगी। गुरुवार से दिव्यांग जन यहां पर फिजियोथैरेपी करवाने आ सकेंगे।

13 सीटर वाहन

सीनियर सिटीजन व दिव्यांग जनों के लिए वाहन सेवा भी शुरू की जा रही है। यह 13 सीटर होगी। जो कि ऑन कॉल उपलब्ध हो सकेगी। इससे उन्हें आने-जाने में सुविधा होगी। कलेक्टर संकेत भोंडवे ने बताया कि सीनियर सिटीजन व दिव्यांगजनों को कार्यालयों व शिविरों में जाना होगा तो उन्हें यह वाहन उपलब्ध करवाया जाएगा। देश में यह पहली सुविधा है।