उज्जैन

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • शांति समिति के सदस्य बोले- 300 जिलाबदर फिर क्यों जिले में आ गई अपराधों की बाढ़?
--Advertisement--

शांति समिति के सदस्य बोले- 300 जिलाबदर फिर क्यों जिले में आ गई अपराधों की बाढ़?

मार्च से शुरू होने जा रहे त्योहारों धुलेंडी, होली, रंगपंचमी, महावीर जयंती, गुड़ी पड़वा, चेटीचंड आदि को ध्यान में रख...

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 07:45 AM IST
मार्च से शुरू होने जा रहे त्योहारों धुलेंडी, होली, रंगपंचमी, महावीर जयंती, गुड़ी पड़वा, चेटीचंड आदि को ध्यान में रख बुधवार को कंट्रोल रूम पर शांति समिति की बैठक में सदस्यों ने बढ़ते अपराधों को लेकर कलेक्टर संकेत भोंडवे व एसपी सचिन अतुलकर से सवाल किए। पूर्व सांसद सत्यनारायण पंवार ने पूछा- लूट सहित अन्य वारदातें बढ़ रही हैं, जाहिर है चूक हो रही है ऐसा क्यों? रूप पमनानी ने पूछा 300-400 बदमाशों को जिला बदर किया बावजूद अपराध की बाढ़ क्यों आ गई? बाकीर अली रंगवाला ने शिकायत की कि सूद व ब्याजखोरों से तंग आकर लोग आत्महत्या को मजबूर हो रहे हैं, एसपी निराकरण के लिए कोई सेल क्यों गठित नहीं करते? इन सवालों के जवाब में एसपी अतुलकर बोले कि जिला बदर की प्रतिबंधात्मक कार्रवाई हमने ठीक की है। जो अपराध हमारे यहां हो रहे हैं वे दूसरे जिलों के अपराधी यहां आकर कर रहे हैं। ऐसे में हमने वहां के पुलिस अफसरों से भी आग्रह किया है कि वे भी इनके खिलाफ कार्रवाई करे। ब्याजखोरी को लेकर उन्होंने प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई करने की बात कही।

चौराहों व तारों के नीचे

नहीं होगा होली दहन

बैठक की शुरुआत में एडीएम जीएस डाबर ने स्पष्ट किया कि चौराहे व बिजली तारों के नीचे हाेली दहन नहीं होगा। इसकी स्वीकृति नहीं दी जाएगी। जल्द ही थानों में सिटी मजिस्ट्रेट व सीएसपी होली व गैर आयोजकों के साथ बैठक कर व्यवस्था तय करेंगे। सिंहस्थ मेला प्राधिकरण अध्यक्ष दिवाकर नातू ने सदस्यों से सुझाव देने के साथ-साथ अपनी जिम्मेदारी तय करने का आह्वान भी किया।

किसने क्या कहा: 000000000000000000000000







एसपी का जवाब- दूसरे जिलों के अपराधी यहां दे रहे वारदात को अंजाम

Click to listen..