पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

न बैठक, न परीक्षा केंद्रों के लिए आवेदन आमंत्रित

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
विक्रम विश्वविद्यालय में 17 दिसंबर से शुरू होना है सेमेस्टर परीक्षाएं, केंद्र तय नहीं

भास्कर संवाददाता | उज्जैन

विक्रम विश्वविद्यालय में अगले महीने होने वाली सेमेस्टर परीक्षाओं के लिए अब तक परीक्षा केंद्र ही तय नहीं हो सके हैं। परीक्षाओं की तैयारी न तो प्राचार्यों की बैठक बुलाई गई आैर न ही केंद्र बनाने के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किए गए, जिसके कारण अब तक यह तय नहीं हो सका है कि किन-किन केंद्रों पर परीक्षा होगी। विश्वविद्यालय में स्नातक आैर स्नातकोत्तर स्तर की एटीकेटी सहित प्रथम, तृतीय, पंचम आैर सप्तम सेमेस्टर की परीक्षाएं दिसंबर-जनवरी के बीच होना है। परीक्षाएं 17 दिसंबर से शुरू होगी। परीक्षा शुरू होने से पहले विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से केंद्रों की सूची तय की जाती है। इसके लिए नए प्रस्ताव भी आमंत्रित किए जाते हैं। इसके अलावा जो कॉलेज परीक्षा केंद्र समाप्त करना चाहते हैं, वह भी अपने आवेदन विश्वविद्यालय को भेजते हैं लेकिन इस बार यह प्रक्रिया ही नहीं हुई है। परीक्षा संबंधी निर्देशों आैर तैयारियों के लिए विश्वविद्यालय परिक्षेत्र के सभी प्राचार्यों की एक बैठक भी बुलाई जाती है। इस बार बैठक भी नहीं बुलवाई गई है। इन सभी बिंदुओं पर हुई देरी के कारण अब तक परीक्षा केंद्रों की सूची तय नहीं हो पाई है। इसका असर यह हो रहा है कि विद्यार्थियों के रोल नंबर भी जनरेट नहीं हो पा रहे हैं। इधर कुलपति प्रो. एसएस पांडेय का कहना है कि विधानसभा चुनाव की आचार संहिता प्रभावी होने के कारण इस बार प्रस्ताव आमंत्रित नहीं किए गए हैं। पूर्व में निर्धारित किसी भी केंद्र से परीक्षा केंद्र को समाप्त करने की एप्लीकेशन भी नहीं आई है। इसलिए पिछली परीक्षा में बनाए गए केंद्रों को ही यथावत रखा जा सकता है। जल्द ही केंद्रों की अधिकृत सूची जारी कर दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...