उज्जैन

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • रेस्टोरेंट के संचालक ने सुसाइड नोट में लिखा- कर्जदारों से परेशान हो चुका, फांसी लगा रहा हूं
--Advertisement--

रेस्टोरेंट के संचालक ने सुसाइड नोट में लिखा- कर्जदारों से परेशान हो चुका, फांसी लगा रहा हूं

सिंधी कॉलोनी चौराहा स्थित सागर कैफे के संचालक सावन पिता महेंद्र सक्सेना ने सोमवार सुबह 10 बजे घर में फांसी लगा ली।...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 05:10 AM IST
रेस्टोरेंट के संचालक ने सुसाइड नोट में लिखा- 
 कर्जदारों से परेशान हो चुका, फांसी लगा रहा हूं
सिंधी कॉलोनी चौराहा स्थित सागर कैफे के संचालक सावन पिता महेंद्र सक्सेना ने सोमवार सुबह 10 बजे घर में फांसी लगा ली। इससे पहले उसने सुसाइड नोट लिखा, जिसमें कर्जदारों से परेशान होने पर फांसी लगाने की बात लिखी है। उसने पांच कर्जदारों के नाम भी लिखे थे।

चाचा राकेश के मुताबिक सावन कुछ दिनों से परेशान था। उसका विवाह नहीं हुआ था। सोमवार सुबह 4.30 बजे वह रोज की तरह उठा और रेस्टोरेंट खोलने चला गया। सुबह 9 बजे तक काम किया। बड़ा भाई सागर कुछ देर बाद रेस्टोरेंट पहुंचा। सावन घर अाया अौर अपने कमरे में चला गया। सुबह 10 बजे भाभी तृप्ति ने कमरे में देखा तो सावन फांसी पर लटका था। भाभी ने सागर को घटना की सूचना दी। पुलिस के सामने सावन के शव को नीचे उतारा। चाचा राकेश सक्सेना नागदा में पटवारी है। राकेश ने बताया दोस्त कहते हैं कि सावन पर 15 से 20 लाख रुपए का कर्ज था। वह ब्याज नहीं चुका पा रहा था। कर्जदार उसे ब्याज और पैसा वापस करने के लिए प्रताड़ित करते थे। इसी बात से चिंतित होकर सावन ने फांसी लगा ली। एसआई पीआर कनेश ने बताया परिजन के बयान लिए हैं। सुसाइड नोट मिला है, आत्महत्या के कारणों की जांच की जाएगी।

सुसाइड नोट में सावन ने यह लिखा

भैया...मां का ध्यान रखना, भतीजे का नाम सावन रखना

मैं सावन सक्सेना पिता महेंद्र सक्सेना फांसी लगाने जा रहा हूं...अब मैं कर्जदारों से बहुत परेशान हो चुका हूं...मेरे घर वाले मुझसे बहुत प्यार करते हैं, मैं उन्हें और परेशान नहीं देख सकता। मुकेश परिहार, धर्मेंद्र, लोकेश, शशांक, सन्नी मराठा और भी बहुत से लोग मुझसे पैसा मांगते हैं। मेरा भाई सागर बहुत अच्छा है...उसने मेरा बहुत साथ दिया पर मेरी वजह से वो भी बहुत परेशान रहता है...भैया मम्मी का ध्यान रखना...शराब और दूसरे नशे छाेड़ देना...पूरे घर का ध्यान रखना...अगर भाई के यहां एक और लड़का हो तो उसका नाम सावन रखना।

बेटे की मौत के बाद मां की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

छोटे बेटे सावन की मौत के बाद मां ममता सक्सेना की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। परिजन के मुताबिक उनका ब्लड प्रेशर बढ़ गया है।

विवाहिता की मौत, पति ने कहा- जहर खाया, माता-पिता का आरोप- जहर खिलाकर फांसी पर लटकाया

महाकाल थाना क्षेत्र स्थित पटवा बाखल में रहने वाले विकास कसेरा की प|ी कीर्ति की रविवार रात मौत हो गई। परिजन उसे निजी अस्पताल लेकर पहुंचे। रात 2 बजे डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पति ने बताया- कीर्ति ने जहर खाया है लेकिन गर्दन पर निशान देखकर माता-पिता ने आरोप लगाया कि उसे जहर खिलाकर फांसी लगा दी।

सीएसपी शकुंतला रूहल के अनुसार कीर्ति का 6 साल पहले विवाह हुआ था। उसका पांच साल का बेटा भी है। पति ने यह बात स्वीकार की है कि रविवार को दोनों के बीच कहासुनी हुई थी। प|ी ने जहर खाने की धमकी दी और संभवत: उसने जहर पी भी लिया। राजस्थान के कांकरोली से पहुंचे कीर्ति के पिता महेश और मां रेखा ने आरोप लगाया दामाद बेटी से मकान खरीदने के लिए रुपए मांग रहा था। बेटी ने खुद जहर नहीं खाया, दामाद ने जहर खिलाकर उसे फांसी पर लटकाया है। एक अन्य रिश्तेदार ने बताया रविवार दोपहर 2 बजे सूचना मिलने पर जब विकास से पूछा तो उसने कहा कि कीर्ति को इंदौर ले गए हैं। रिश्तेदारों ने आरोप लगाया कि अंतिम यात्रा के लिए वे लोग राजस्थान, रतलाम से आए थे लेकिन परिजनों ने अंतिम दर्शन नहीं करने दिए।

शहर में दो महीने में 35 आत्महत्याएं

शहर के 12 थाना क्षेत्रों में पिछले दो माह में 35 लोगों ने आत्महत्या कर ली। इनमें ज्यादातर खुदकुशी करने वाले लोगों ने मौत को गले लगाने के लिए फांसी के फंदे पर झूलना सबसे आसान समझा। आत्महत्या करने वाले लोगों पर नजर डाली जाए तो ये नहीं कहा जा सकता कि विशेष उम्र के लोगों ने किसी विशेष कारण के चलते आत्मघाती कदम उठाया हो। हर उम्र का व्यक्ति जीवन की परेशानियों का हल मौत को समझ रहा है।

...और इधर हत्या या आत्महत्या

X
रेस्टोरेंट के संचालक ने सुसाइड नोट में लिखा- 
 कर्जदारों से परेशान हो चुका, फांसी लगा रहा हूं
Click to listen..