• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Ujjain
  • 8वीं पास युवती को 10 साल तक सिर-माथे बैठाया पुलिस ने; भोपाल-उज्जैन मैस में भी रही, अफसर तलब करती, तबादलों के अावेदन लेती
--Advertisement--

8वीं पास युवती को 10 साल तक सिर-माथे बैठाया पुलिस ने; भोपाल-उज्जैन मैस में भी रही, अफसर तलब करती, तबादलों के अावेदन लेती

जिस पुलिस के पास रिपोर्ट लिखाने जाने में लोगों के हाथ-पैर कांपने लगते हैं, वह पुलिस एक-दो नहीं, पूरे 10 साल तक महज...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 05:40 AM IST
8वीं पास युवती को 10 साल तक सिर-माथे बैठाया पुलिस ने; भोपाल-उज्जैन मैस में भी रही, अफसर तलब करती, तबादलों के अावेदन लेती
जिस पुलिस के पास रिपोर्ट लिखाने जाने में लोगों के हाथ-पैर कांपने लगते हैं, वह पुलिस एक-दो नहीं, पूरे 10 साल तक महज आठवीं पास युवती के रौब तले दबी रही। रौब भी ऐसा कि सुख-सुविधा में थोड़ी कमी हो जाए तो टीआई से लेकर सीएसपी तक की लू उतार दे। जब दिल करता, पहुंच जाती पुलिस ऑफिसर मैस। उसके रहन-सहन, फर्राटेदार अंग्रेजी के जाल में सिर्फ इंदौर के पुलिस अफसर ही नहीं, भोपाल, उज्जैन के अफसर भी फंसे और वीआईपी ट्रीटमेंट देते रहे। एक दशक तक पुलिस अफसरों को अंगुलियों पर नचाने वाली जालसाज युवती का दुस्साहस इस कदर बढ़ गया कि वह पुलिसकर्मियों के तबादले के आवेदन लेने लगी। अफसरों के यहां शादी-पार्टियों में मेहमान बनकर जाती। इस मेहमान के फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद अफसरों के पैरों तले जमीन खिसकी हुई है। अब जांच, कार्रवाई और उसके संपर्कों की तलाश की जा रही है।

युवती का नाम है सोनाली शर्मा, जो मूल रूप से भोपाल की रहने वाली है। भास्कर में इस मामले के खुलासे के बाद पुलिस ने सोनाली और उसके बॉयफ्रैंड कृष्णा राठौर निवासी भोपाल को गिरफ्तार कर लिया। वह सोनाली के साथ विद्या नगर के फ्लैट में किराए से रहता था। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि सोनाली के पिता किसान थे, उनकी मृत्यु हो चुकी है, जबकि मां भोपाल में होशंगाबाद रोड स्थित फ्लैट में रहती है। शुरुआती पूछताछ में सोनाली ने सिर्फ रुतबा जमाने के लिए ऐसा करने की बात कही है, पर जांच कर रहे हैं कि उसने झूठी पहचान से धोखाधड़ी तो नहीं की।

एएसपी को हुई शंका तो खुली पोल, बुके मंगवाने पर पकड़ाया गड़बड़झाला

जालसाज सोनाली पर एएसपी रूपेश द्विवेदी को चार माह पूर्व ही शंका हुई थी। उन्होंने डीआरपी लाइन के आरआई को सूचना देकर वेरिफाई करने को कहा था, लेकिन वह नजरअंदाज कर गए। सोमवार को ऑफिसर मैस में इंदौर के पूर्व डीआईजी और वर्तमान में एडीजी एसएएफ पवन श्रीवास्तव की एक पार्टी थी। पार्टी में जाने के लिए उसने मैस के एक जवान को बुलाकर बुके लाने के लिए फटकारा।



भास्कर संवाददाता | इंदौर

जिस पुलिस के पास रिपोर्ट लिखाने जाने में लोगों के हाथ-पैर कांपने लगते हैं, वह पुलिस एक-दो नहीं, पूरे 10 साल तक महज आठवीं पास युवती के रौब तले दबी रही। रौब भी ऐसा कि सुख-सुविधा में थोड़ी कमी हो जाए तो टीआई से लेकर सीएसपी तक की लू उतार दे। जब दिल करता, पहुंच जाती पुलिस ऑफिसर मैस। उसके रहन-सहन, फर्राटेदार अंग्रेजी के जाल में सिर्फ इंदौर के पुलिस अफसर ही नहीं, भोपाल, उज्जैन के अफसर भी फंसे और वीआईपी ट्रीटमेंट देते रहे। एक दशक तक पुलिस अफसरों को अंगुलियों पर नचाने वाली जालसाज युवती का दुस्साहस इस कदर बढ़ गया कि वह पुलिसकर्मियों के तबादले के आवेदन लेने लगी। अफसरों के यहां शादी-पार्टियों में मेहमान बनकर जाती। इस मेहमान के फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद अफसरों के पैरों तले जमीन खिसकी हुई है। अब जांच, कार्रवाई और उसके संपर्कों की तलाश की जा रही है।

युवती का नाम है सोनाली शर्मा, जो मूल रूप से भोपाल की रहने वाली है। भास्कर में इस मामले के खुलासे के बाद पुलिस ने सोनाली और उसके बॉयफ्रैंड कृष्णा राठौर निवासी भोपाल को गिरफ्तार कर लिया। वह सोनाली के साथ विद्या नगर के फ्लैट में किराए से रहता था। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि सोनाली के पिता किसान थे, उनकी मृत्यु हो चुकी है, जबकि मां भोपाल में होशंगाबाद रोड स्थित फ्लैट में रहती है। शुरुआती पूछताछ में सोनाली ने सिर्फ रुतबा जमाने के लिए ऐसा करने की बात कही है, पर जांच कर रहे हैं कि उसने झूठी पहचान से धोखाधड़ी तो नहीं की।

एएसपी को हुई शंका तो खुली पोल, बुके मंगवाने पर पकड़ाया गड़बड़झाला

जालसाज सोनाली पर एएसपी रूपेश द्विवेदी को चार माह पूर्व ही शंका हुई थी। उन्होंने डीआरपी लाइन के आरआई को सूचना देकर वेरिफाई करने को कहा था, लेकिन वह नजरअंदाज कर गए। सोमवार को ऑफिसर मैस में इंदौर के पूर्व डीआईजी और वर्तमान में एडीजी एसएएफ पवन श्रीवास्तव की एक पार्टी थी। पार्टी में जाने के लिए उसने मैस के एक जवान को बुलाकर बुके लाने के लिए फटकारा।

मप्र पुलिस की VIP गेस्ट

नाम : सोनाली शर्मा

उम्र : 32 साल

पता : पुलिस मैस फर्स्ट बटालियन

शिक्षा : 8वीं

भास्कर संवाददाता | इंदौर

जिस पुलिस के पास रिपोर्ट लिखाने जाने में लोगों के हाथ-पैर कांपने लगते हैं, वह पुलिस एक-दो नहीं, पूरे 10 साल तक महज आठवीं पास युवती के रौब तले दबी रही। रौब भी ऐसा कि सुख-सुविधा में थोड़ी कमी हो जाए तो टीआई से लेकर सीएसपी तक की लू उतार दे। जब दिल करता, पहुंच जाती पुलिस ऑफिसर मैस। उसके रहन-सहन, फर्राटेदार अंग्रेजी के जाल में सिर्फ इंदौर के पुलिस अफसर ही नहीं, भोपाल, उज्जैन के अफसर भी फंसे और वीआईपी ट्रीटमेंट देते रहे। एक दशक तक पुलिस अफसरों को अंगुलियों पर नचाने वाली जालसाज युवती का दुस्साहस इस कदर बढ़ गया कि वह पुलिसकर्मियों के तबादले के आवेदन लेने लगी। अफसरों के यहां शादी-पार्टियों में मेहमान बनकर जाती। इस मेहमान के फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद अफसरों के पैरों तले जमीन खिसकी हुई है। अब जांच, कार्रवाई और उसके संपर्कों की तलाश की जा रही है।

युवती का नाम है सोनाली शर्मा, जो मूल रूप से भोपाल की रहने वाली है। भास्कर में इस मामले के खुलासे के बाद पुलिस ने सोनाली और उसके बॉयफ्रैंड कृष्णा राठौर निवासी भोपाल को गिरफ्तार कर लिया। वह सोनाली के साथ विद्या नगर के फ्लैट में किराए से रहता था। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि सोनाली के पिता किसान थे, उनकी मृत्यु हो चुकी है, जबकि मां भोपाल में होशंगाबाद रोड स्थित फ्लैट में रहती है। शुरुआती पूछताछ में सोनाली ने सिर्फ रुतबा जमाने के लिए ऐसा करने की बात कही है, पर जांच कर रहे हैं कि उसने झूठी पहचान से धोखाधड़ी तो नहीं की।

एएसपी को हुई शंका तो खुली पोल, बुके मंगवाने पर पकड़ाया गड़बड़झाला

जालसाज सोनाली पर एएसपी रूपेश द्विवेदी को चार माह पूर्व ही शंका हुई थी। उन्होंने डीआरपी लाइन के आरआई को सूचना देकर वेरिफाई करने को कहा था, लेकिन वह नजरअंदाज कर गए। सोमवार को ऑफिसर मैस में इंदौर के पूर्व डीआईजी और वर्तमान में एडीजी एसएएफ पवन श्रीवास्तव की एक पार्टी थी। पार्टी में जाने के लिए उसने मैस के एक जवान को बुलाकर बुके लाने के लिए फटकारा।

यूं उठाया फायदा : रिटायर्ड डीजी की पहचान पर आई थी

सोनाली पहली बार 2008 में रिटायर्ड डीजी लोकायुक्त कापदेव के रिफरेंस पर उनकी बेटियों के साथ ऑफिसर मैस में ठहरी थी। बाद में इसने पुलिस अधिकारियों से पहचान बनाई और उनकी रिश्तेदार बताकर फायदा उठाना शुरू किया। इसके बाद इसका आना-जाना लगा रहा तो मैस के कर्मचारी भी इसे विशिष्ट अतिथि की तरह सम्मान देने लगे। इसने कुछ समय पूर्व एक रेलवे एसपी के फोन से भी रूम बुक करवाया था। वह कुछ दिन पहले सीएसपी ज्योति उमठ की शादी में भी शामिल हुई थी।

X
8वीं पास युवती को 10 साल तक सिर-माथे बैठाया पुलिस ने; भोपाल-उज्जैन मैस में भी रही, अफसर तलब करती, तबादलों के अावेदन लेती
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..