Hindi News »Madhya Pradesh »Ujjain» सीमंधर जैन मंदिर में स्मार्ट क्लास, बच्चे और बड़ों के लिए धर्म-अध्यात्म के कोर्स

सीमंधर जैन मंदिर में स्मार्ट क्लास, बच्चे और बड़ों के लिए धर्म-अध्यात्म के कोर्स

जैन समाज के क्षीरसागर स्थित सीमंधर मंदिर में जीवन जीने के गुर सिखाने के लिए अब स्मार्ट क्लास रूम बनाया है। करीब एक...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 06:45 AM IST

सीमंधर जैन मंदिर में स्मार्ट क्लास, बच्चे और बड़ों के लिए धर्म-अध्यात्म के कोर्स
जैन समाज के क्षीरसागर स्थित सीमंधर मंदिर में जीवन जीने के गुर सिखाने के लिए अब स्मार्ट क्लास रूम बनाया है। करीब एक लाख रु. खर्च कर यहां बच्चों और बड़ों को धर्म के अनुरूप दिनचर्या सिखाई जाती है। एलईडी स्क्रीन, कम्प्यूटर और स्पीकर के माध्यम से बच्चों को वीडियो के माध्यम से धर्म का ज्ञान कराया जा रहा है। धार्मिक शिक्षा के लिए इस तरह का यह पहला प्रयोग है।

सीमंधर जैन मंदिर में बच्चों और बड़ों को आदर्श जीवन की कला सिखाने के लिए 1 मई 1976 से पाठशाला शुरू की थी। समाजसेवी फूलचंद झांझरी ने इसकी परिकल्पना कर पाठशाला शुरू कराई थी। इसके पहले शिक्षक प्रदीप झांझरी अभी भी यहां शिक्षा देने की सेवा दे रहे हैं। इसकी व्यवस्था देखने वाले जंबू जैन धवल के अनुसार पहले पारंपरिक तरीके से धर्म, समाज की शिक्षा दी जाती थी। आधुनिक समय में बच्चों और बड़ों को आधुनिक संसाधनों के माध्यम से शिक्षा देने के लिए करीब एक लाख रु. खर्च कर स्मार्ट क्लास रूम बनाया है। हालांकि इसे गुरुकुल जैसा माहौल देने के लिए बैठक व्यवस्था अभी भी जमीन पर ही रखी है। डिजिटल सिलेबस तैयार किया है, जिसमें वीडियो का प्रदर्शन होता है।

चार तरह का कोर्स

पाठशाला के लिए बनाए कोर्स में नैतिक शिक्षा, धर्म का पालन, समाज में व्यवहार और परिवार के चार भाग हैं। अलग-अलग तरीकों से जीवन में नैतिकता, धर्म का महत्व और पालन करने के लिए प्रोत्साहन, समाज में किस तरह का व्यवहार करना चाहिए तथा परिवार में सुख-संपन्नता का आधार क्या है, इन तत्वों को डिजिटल माध्यम से समझाया जाता है। शिक्षक अपने उद्बोधन के साथ वीडियो का प्रदर्शन करते हैं। इससे बड़ों के साथ बच्चों को भी आसानी से समझ में आता है।

एलईडी पर डिजिटल कोर्स पढ़ााते हुए।

20 मई तक विशेष संस्कार निर्माण शिविर चलेगा

पाठशाला में नियमित रूप से 75 बच्चे आ रहे हैं, जिन्हें एक साल तक हर हफ्ते तीन दिन क्लास अटेंड करना होती है। 14 से 20 मई तक विशेष संस्कार निर्माण शिविर चल रहा है, जिसमें 250 लोग भागीदारी कर रहे हैं। बड़ों के लिए सोम, मंगल, बुध और बच्चों के लिए शुक्र, शनि और रविवार को क्लास लगाई जाती है।

दो मंदिरों में प्रतिमाओं का अनूठा स्थापना आयोजन

क्षीरसागर स्थित सीमंधर जैन मंदिर और मंडी स्थित महावीर जैन मंदिर में प्रतिमाओं की स्थापना का अनूठा आयोजन 20 मई को होगा। अनूठा इसलिए कि सीमंधर मंदिर में विराजित चंदाप्रभु भगवान की दो प्रतिमाओं में से एक चिमनगंज मंडी मंदिर में स्थापित होगी तथा मंडी स्थित मंदिर में विराजित शांतिनाथ भगवान की दो में से एक प्रतिमा क्षीरसागर स्थित मंदिर में विराजित होगी। इसके लिए शुक्रवार सुबह 7.30 से 11 बजे तक याग मंडल विधान तथा शनिवार को शांतिनाथ मंडल विधान महोत्सव होगा। 20 मई को सुबह 8 बजे क्षीरसागर से मंडी मंदिर तक अहिंसा रैली एवं रथयात्रा निकाली जाएगी तथा प्रतिमा स्थापना होगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ujjain

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×