• Hindi News
  • Mp
  • Ujjain
  • Ujjain News mp news 90 quintal plastic waste less access transfer station every month

हर माह 90 क्विंटल प्लास्टिक कचरा कम पहुंच रहा ट्रांसफर स्टेशन

Ujjain News - दो अक्टूबर को सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने का संकल्प शहर के रहवासियों ने लिया था। इसका असर यह हुआ कि हर...

Feb 15, 2020, 09:46 AM IST
Ujjain News - mp news 90 quintal plastic waste less access transfer station every month

दो अक्टूबर को सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने का संकल्प शहर के रहवासियों ने लिया था। इसका असर यह हुआ कि हर माह 90 क्विंटल प्लास्टिक कचरा कम हो गया।

नगर निगम अफसरों का कहना है कि इसके पहले हर दिन औसत 5 क्विंटल पॉलीथिन या सिंगल यूज प्लास्टिक कचरा दो कचरा ट्रांसफर स्टेशनों पर पहुंचता था। यह उन लोगों के बहिष्कार का नतीजा है जिन्होंने खुद सिंगल यूज प्लास्टिक से दूरी बना ली है। समाजों के
साथ व्यापारियों ने भी इसे छाेड़ना शुरू कर दिया है। सामाजिक आयोजन हो या धार्मिक अब डिस्पोजल की जगह कागज,
स्टील या मिट्‌टी के बर्तनों ने जगह बनाना शुरू कर दिया है। दूध व्यापारी बर्तनों में दूध देने लगे हैं। रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को डिस्पोजल में चाय, कॉफी नहीं मिलती। खाने का सामान दोना-पत्तल में दिया जा रहा है। अग्रवाल, माहेश्वरी, यादव, पांचाल, क्षत्रिय, ब्राह्मण समाज ने अपने आयोजन डिस्पोजल मुक्त करने की घोषणा ही नहीं की वे इसका पालन भी कर रहे हैं। निगम के स्वच्छ सर्वे में टावर अौर देवास गेट क्षेत्र को स्वच्छ बाजार में शामिल किया है। इसके मायने यह हैं कि यहां पर पॉलीथिन का कचरा कम हुआ है।

सिंगल यूज पॉलीथिन से ये नुकसान

90 फीसदी प्लास्टिक समुद्र में कचरे के रूप में निकलता है

10 लाख समुद्री जीव और एक लाख व्हेल, डॉल्फिन, कछुए मर जाते हैं हर साल प्लास्टिक कचरे से

60 लाख टन प्लास्टिक हर साल देश में फेंका जाता

500 अरब थैलियां दुनिया भर में हर साल फेंकी जाती हैं।

समाज-संगठनों
भी दिया साथ


{अग्रवाल समाज के अध्यक्ष भगवानदास ऐरन के अनुसार समाज की ओर से हर साल 18 से 20 आयोजन होते हैं। अब तांबे के लोटे और स्टील ग्लास रखना शुरू कर दिए हैं।

{ माहेश्वरी समाज, अनाज तिलहन व्यवसायी संघ, अन्नपूर्णा हलवाई केटर्स संघ, विश्वकर्मा पांचाल समाज ने अपने आयोजन प्लास्टिक मुक्त कर दिए।

एक करोड़ से 40 लाख हो गया बिजनेस

हर महीने एक करोड़ की सिंगल यूज प्लास्टिक की खपत शहर में होती थी। उद्याेगपति अतीत अग्रवाल के अनुसार जागरूकता आने लगी है। कारोबार 40 लाख तक सिमट गया है। बड़े व्यापारियोंं ने तो पूरी तरह से दूरी बना ली है।

दूध तलाई में लगे हाट बाजार में सब्जियां खरीदने आए लोग अब कपड़े की थैलियां लेकर आने लगे हैं।

X
Ujjain News - mp news 90 quintal plastic waste less access transfer station every month
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना