• Hindi News
  • Mp
  • Ujjain
  • Ujjain News mp news bhairav ashtami today according to skanda purana the ancient ashta bhairav who is the representative of the eight directions of the city

भैरव अष्टमी आज...स्कंद पुराण के अनुसार प्राचीन अष्ट भैरव जो शहर की आठों दिशाओं के प्रतिनिधि हैं

Ujjain News - संतान की रक्षा के लिए आज सर्वार्थ सिद्धि योग में रात 12 बजे भैरव पूजा कल तीन जगह से निकलेगी सवारी भास्कर...

Nov 19, 2019, 10:07 AM IST
संतान की रक्षा के लिए आज सर्वार्थ सिद्धि योग में रात 12 बजे भैरव पूजा

कल तीन जगह से निकलेगी सवारी

भास्कर संवाददाता | उज्जैन

अगहन की कृष्ण पक्ष अष्टमी पर कालाष्टमी कहलाती है। यह भैरव के जन्मोत्सव के रूप में मनाई जाती है। मंगलवार रात सर्वार्थ सिद्धि योग में भैरव अष्टमी मनेगी। भैरव तंत्र के अनुसार मंगलवार को सिद्धिदायक नक्षत्र में यह अष्टमी त्रिकाल साधना के लिए खास है। भैरव मंदिरों में रात 12 बजे महापूजन होगा। बुधवार को शहर में काल भैरव, सिंहपुरी से आताल-पाताल भैरव और भागसीपुरा से आनंद भैरव की सवारी निकाली जाएगी।

ज्योतिषियों के अनुसार पौराणिक मान्यता और आर्ष ग्रंथों में शहर का प्राचीन इतिहास दर्ज है। पृथ्वी के नाभि केंद्र के रुप में होने से आठों दिशाओं का यहां महत्व है और इसी आधार पर अष्ट भैरव की स्थापना भी स्वयंभू बताई जाती है। पं. अमर डिब्बावाला के अनुसार तंत्र साधना में भी अष्टांगिक मार्ग का उल्लेख है। शिव महापुराण में भैरव उत्पत्ति का अलग से उल्लेख है। स्कंद पुराण में शहर में अष्ट भैरव का उल्लेख किया गया है। प्राचीन ग्रंथों में भी इनका उल्लेख किया गया है। रामघाट के अलावा भागसीपुरा में भी आनंद भैरव की मान्यता है। पं. डिब्बावाला के अनुसार भैरव का अर्थ होता है भय से मुक्त करने वाला। भैरव की आराधना संतान की रक्षा के लिए की जाती है।

कालभैरव पर दो दिनी उत्सव में मंगलवार की रात 9 बजे चोला शृंगार, पूजन, सिंधिया परिवार की पगड़ी पहनाई जाएगी, 56 भोग लगेंगे तथा 11 हजार लड्डुओं का महाभोग लगेगा। रात 12 बजे महाआरती होगी। 20 नवंबर की शाम को सवारी निकलेगी। शाम 4 बजे सवारी का पूजन कलेक्टर शशांक मिश्र करेंगे। इसके बाद पालकी यात्रा शुरू होगी। पालकी केंद्रीय जेल होकर सिद्धवट जाएगी जहां पूजन के बाद नगर भ्रमण कर वापस मंदिर लौटेगी। सिंहपुरी स्थित आताल-पाताल भैरव की भी मंगलवार रात महापूजा और आरती होगी। 20 की शाम सवारी निकाली जाएगी, जो प्रमुख मार्गों से होकर फिर मंदिर आएगी। 21 को कन्या बटुक भोज होगा। भागसीपुरा स्थित आनंद भैरव की भी मंगलवार रात महापूजा होगी। 20 की शाम को सवारी निकाली जाएगी। सवारी में भक्तजन और नागरिक शामिल होंगे।

क्षेत्रपाल भैरव, सिंहपुरी

गोरा भैरव, गढ़कालिका

दंडपाणि, कालिदास उद्यान

बटुक भैरव, चक्रतीर्थ

काल भैरव, भैरवगढ़ क्षेत्र

56 भैरव मंदिरों में चॉकलेट, बिस्किट के 56 भोग लगेंगे

भैरव आराधक इंदौर के नीरज देसाई मंगलवार को इंदौर और उज्जैन के 56 भैरव मंदिरों में 56 भोग लगाएंगे। 56 भोग में चॉकलेट, बिस्कीट, चिप्स, मिठाई, मुखवास, गजक भी होंगे। इंदौर में 56 थाल सजाए जा रहे हैं। देसाई ने बताया दोपहर 3 बजे उज्जैन से इसकी शुरुआत होगी।

विक्रांत भैरव, भैरवगढ़ क्षेत्र

आनंद भैरव, रामघाट

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना