गड्ढों में जमा नर्मदा के पानी को पोकलेन से चैनल कटिंग कर त्रिवेणी बैराज पहुंचाया

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:36 AM IST

Ujjain News - शहर में पेयजल सप्लाय हो सके इसके लिए त्रिवेणी के पुराने पुल के पास गड्‌ढों में जमा काे मेनस्ट्रीम में लाने का काम...

Ujjain News - mp news drainage of narmada deposited in pits to cut the channel from poklane to triveni barrage
शहर में पेयजल सप्लाय हो सके इसके लिए त्रिवेणी के पुराने पुल के पास गड्‌ढों में जमा काे मेनस्ट्रीम में लाने का काम किया जा रहा है। पोकलेन मशीन से त्रिवेणी पर किए जा रहे चैनल कटिंग के कारण ब्रिज के अपस्ट्रीम में भरा नर्मदा का पानी तेजी से त्रिवेणी बैराज की ओर आने का क्रम शुरू हो गया है।

पीएचई अधिकारियों के अनुसार भरे हुए पानी के हर गड्ढे को जोड़कर पोकलेन से चैनल काटी जा रही है। जिससे हर गड्ढे के पानी का पूरा उपयोग किया जा सके। पीएचई के सहायक यंत्री राजीव शुक्ला के अनुसार निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने गंभीर की तरह शिप्रा नदी में चैनल कटिंग कर गड्ढों में जमा पानी को गऊघाट तक लाने का काम करने के निर्देश दिए हैं। इसी क्रम में पीएचई का अमला पोकलेन की मदद से चैनल कटिंग कर हर गड्ढे के पानी को सहेजने में लगा है।

गंभीर में 232 एमसीएफटी पानी, 16 दिन होगी सप्लाई

गंभीर में पानी लगातार कम हो रहा है। शनिवार को 232 एमसीएफटी पानी दर्ज किया था। इसमें से 100 एमसीएफटी पानी अनुपयोगी माना जाता है। ऐसे में 8 एमसीएफटी रोज सप्लाय किया गया तो 16 दिन तक ही पानी सप्लाय किया जा सकेगा। पीएचई अधिकारियों के अनुसार त्रिवेणी बैराज से आए पानी से जलप्रदाय में मदद मिलने से गंभीर पर निर्भरता कम हुई है हालांकि जब तक नर्मदा से ज्यादा मात्रा में पानी नहीं आता तब तक पेयजल के लिए स्थायी समाधान नहीं किया जा सकेगा।

शिप्रा के अपस्ट्रीम में भरा नर्मदा का पानी त्रिवेणी बैराज की ओर लाने के लिए निगम की टीम चैनल कटिंग करा रही है।

X
Ujjain News - mp news drainage of narmada deposited in pits to cut the channel from poklane to triveni barrage
COMMENT