जिस तरह तपस्वी से बढ़कर खिलाड़ी है, उसी तरह नेताओं से श्रेष्ठ मतदाता

Ujjain News - जिस तरह तपस्वी से बढ़कर खिलाड़ी की साधना होती है उसी प्रकार लोकतंत्र में नेताओं से श्रेष्ठ मतदाता हैं। युवाओं के...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:41 AM IST
Ujjain News - mp news just as the player is more than the ascetic the best voter from the leaders in the same way
जिस तरह तपस्वी से बढ़कर खिलाड़ी की साधना होती है उसी प्रकार लोकतंत्र में नेताओं से श्रेष्ठ मतदाता हैं। युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत स्वामी विवेकानंद कहते थे कि यदि आप नियमित व्यायाम नहीं करते तो आपकाे भोजन करने का अधिकार नहीं है। उनके दिखाए मार्ग का अनुसरण करते हुए जीवन में बहुत कुछ हासिल किया है आज मैं कहता हूं यदि अाप मतदान नहीं करते तो खुद को भारतीय कहने का अधिकार नहीं है। यह बात पहलवानों के खलीफा, सांदीपनि अवार्ड से सम्मानित 80 वर्षीय टाइगर फूलचंद पहलवान ने भास्कर से बातचीत में कही। टाइगर ने बताया आजादी के बाद 60-70 के दशक में बहुत बुरी स्थितियां थी। क्षीरसागर मैदान एक खुला खेत था इसकी जमीन को खोदकर अखाड़ा बनाते और कुश्ती खेलते थे। 5 साल की उम्र से पहलवानी करना शुरू की। 1988 में एलएलबी करने के बाद आरपीएफ में सब इंस्पेक्टर की नौकरी मिली। खेल के लिए इसे छोड़ा और नगर निगम में राजस्व अधिकारी के रूप में नियुक्ति हुई। पिछले 40 सालों तक सरकारें देश को संभालने का दावा करती रही। खिलाड़ियों को कोई मदद नहीं मिलती थी। 90 के दशक के बाद सरकारों का खेलों की तरफ ध्यान गया। पिछले 15-20 सालों में खिलाड़ियों को स्कॉलरशिप, खेल सामग्री आदि मिलने लगा है। खिलाड़ी मजबूत हुए तो देश भी मजबूत हो रहा है। पहलवान बोले लोकतंत्र की मजबूत सरकार बनाने के लिए मैं हर चुनाव में मतदान करता हूं। अपने शिष्यों और पड़ोसियों को भी मतदान के लिए प्रेरित करता हूं। 19 को सुबह सबसे पहले अखाड़े के पहलवानों को साथ लेकर मतदान करने जाऊंगा।

X
Ujjain News - mp news just as the player is more than the ascetic the best voter from the leaders in the same way
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना