नाम की ई-सेवाएं, ऑनलाइन आवेदन के बाद शुल्क जमा करने जाना पड़ रहा जोन दफ्तर

Ujjain News - नगर निगम की 16 सेवाएं ऑनलाइन हैं। इन ई-सेवाओं को शुरू करने का मकसद था लोगों को घर बैठे सुविधाएं देना। उन्हें...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 09:26 AM IST
Ujjain News - mp news name e services zoning office going to deposit fee after online application
नगर निगम की 16 सेवाएं ऑनलाइन हैं। इन ई-सेवाओं को शुरू करने का मकसद था लोगों को घर बैठे सुविधाएं देना। उन्हें संपत्तिकर, जलकर जमा करवाने सहित बिल्डिंग अनुमति लेने के लिए निगम मुख्यालय या जोन कार्यालय की जरूरत न पड़े लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है।

निगम ने इसके प्रचार-प्रसार के लिए कोई कदम ही नहीं उठाया है। लोग केवल फाॅर्म भरने तक सीमित होकर रह जाते हैं। शुल्क की जानकारी के लिए उन्हें एक बार ही सही लेकिन जोन कार्यालय तो जाना ही पड़ेगा। ऐसे में इस सेवा की उपयोगिता पर सवाल उठाए जा रहे हैं। जलकर, विवाह पंजीयन, होर्डिंग पंजीयन सहित इन ई-सेवाओं के लिए निगम की वेबसाइड पर आवेदन किया जा सकता है लेकिन किस सेवा के लिए कितना शुल्क लगेगा इसकी जानकारी के लिए कोई अलग कॉलम नहीं रखा है। रही बात हेल्प लाइन की तो इसके लिए ई-नगर पालिका भोपाल से संपर्क करना होगा यानी शहर के किसी मोहल्ले में जलप्रदाय के लिए नया कनेक्शन लेना हो तोे उसके लिए भोपाल से संपर्क करना होगा। घर बैठे संपत्तिकर जमा करवाने के लिए निगम ने ई-वाहन शुरू किया था। एक साल पहले शुरू किए इस वाहन का शेड्यूल अब तक तय नहीं है। जिससे लोगों को पता ही नहीं चलता कि वाहन उनके क्षेत्र में या वार्ड में कब पहुंचेगा।

यह हो रहा नुकसान




ई-सेवाओं में ये खामियां...नए नल कनेक्शन का काॅलम नहीं, लाइसेंस भी नहीं बन रहे

संपत्तिकर : जोन पर खोलने और सेल्फ एसेसमेंट करने के बाद ही पता चलता है कि किस परिक्षेत्र में कितना कर देना होगा।

ऑनलाइन बिल्डिंग अनुमति : जानकारी देने के बाद सत्यापित करने का फार्मूला नहीं है।

जलकर : बकाया, नए कनेक्शन के लिए अलग से कॉलम नहीं है।

विवाह पंजीयन : पंडित, परिजन के साथ विवाह पत्रिकाएं जैसे दस्तावेजों की जरूरत होती है। ऑनलाइन सत्यापित सिस्टम नहीं है।

जन्म प्रमाण पत्र : एकल खिड़की पर फार्म के लिए शुल्क तय है लेकिन ऑनलाइन कितना शुल्क देना होगा यह तय नहीं है।

मृत्यु प्रमाण पत्र : एक आवेदन का फार्मेट बनाया है जिसे निगम मुख्यालय सेे ही लिया जा सकता है।

होर्डिंग पंजीयन : किस क्षेत्र के लिए कितने आकार के होर्डिंग के लिए कितना शुल्क, यह तय नहीं है।

फायर : यह सेवा नि:शुल्क है। नागरिक कंट्रोल रूम पर फोन कर इसका लाभ ले सकता है।

ट्रेड लाइसेंस : ई-सेवाओं में शामिल तो कर लिया है लेकिन यह अब तक शुरू ही नहीं हो पाई है।

वाटर टैंकर : टैंकर सार्वजनिक उपयोग के लिए मंगवाने पर इसके लिए कोई शुल्क लिया जाएगा या नहीं, यह ई-सेवा में स्पष्ट नहीं है।

सेप्टिक टैंक व सीवरेज सफाई : निगम वाहन भेजता है लेकिन प्रक्रिया इतनी लंबी बनाई है कि लोग सीधे जोन से रसीद कटवाना पसंद करते हैं।

कचरा उठवाना : किस श्रेणी का कचरा उठाया जा सकता है, यह स्पष्ट नहीं है।

मलबा उठवाना : मलवा उठवाने के लिए सेवा शुरू की थी। इसमें कर्मचारी किसी समय आएंगे, कितना शुल्क लगेगा, तय नहीं है।

शव वाहन (नि:शुल्क)

अग्निशमन प्रमाण पत्र : नए मकानों, कॉम्प्लेक्स के लिए प्रमाण पत्र बनवाए जा सकते हैं लेकिन यह काम मुख्यालय या जोन कार्यालय जाए बगैर नहीं किया जा सकता।

पेड़ कटाई/स्थान परिवर्तन : आवेदन तो किया जा सकता लेकिन इसमें वक्त, कटाई, स्थान परिवर्तन कब तक करेंगे यह भी तय नहीं है।

निगम की ई-सेवाएं

कारगर बनाएंगे


X
Ujjain News - mp news name e services zoning office going to deposit fee after online application
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना