माइक्रोमीटर नहीं, छूकर कहा- 51 माइक्रॉन से कम की है पॉलीथिन, 15 हजार जुर्माना मांगा, 1500 लेकर चले गए

Ujjain News - स्वच्छ बाजार बनाने के लिए निगम की टीम गंदगी फैलाने और मानक से कम की पॉलीथिन का उपयोग करने वाले व्यापारियों पर...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 05:06 AM IST
Ujjain News - mp news not a micrometer touched and said polyethylene less than 51 microns demanded 15 thousand fines went by 1500
स्वच्छ बाजार बनाने के लिए निगम की टीम गंदगी फैलाने और मानक से कम की पॉलीथिन का उपयोग करने वाले व्यापारियों पर कार्रवाई करने पहुंची। टीम के पास माइक्रोमीटर नहीं था, जिससे पता कर सके कि पॉलीथिन कितने माइक्रॉन की है।

अफसरों ने पॉलीथिन को हाथ लगाया और अंदाजा लगा लिया कि ये 51 माइक्रॉन से कम की है। फिर बगैर नियमों के जुर्माना मांगा। एक दुकान पर पहले 15 हजार रुपए जुर्माना लगाने की बात कही। जब दुकानदार ने बहस की तो वे बार्गेनिंग करने लगे। अंतत: 1500 रुपए जुर्माना लेने पर मान गए और रसीद काट दी। शनिवार को निगम के छह जोन के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने 160 किलो पॉलीथिन जब्त, 100 किलो सड़े-गले फल नष्ट किए, 252850 रुपए जुर्माना वसूला। सुबह 6 बजे निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने शहर के बाजारों का निरीक्षण किया। अमले को विरोध का सामना भी करना पड़ा।

निगम आयुक्त पाल के अनुसार स्वच्छ बाजार के तहत एक सप्ताह में शहर के सभी बाजारों को स्वच्छ और साफ बनाने के लिए जोन स्तर पर रिपोर्ट तैयार कराई जाएगी। इसकी शुरुआत हो गई है। निगम उपायुक्त योगेंद्र पटेल का कहना है-अमानक पॉलीथिन मिलने पर निगम अफसर अपने विवेक से पांच हजार रुपए से लेकर 20 हजार रुपए तक जुर्माना लगा सकते हैं। इसी के तहत शनिवार को जुर्माना लगाया।

भास्कर लाइव : पहले जो मन में आया वो जुर्माना लगाया, फिर कम की रसीद काटी

फ्रीगंज : दोपहर 12.10 बजे

सहायक स्वास्थ्य अधिकारी पुरुषोत्तम दुबे भांग दुकान पर पहुंचे। कहा- आपके यहां 51 माइक्रॉन से कम की पॉलीथिन मिली है। 15 हजार रुपए जुर्माना लगेगा।

दुकानदार : यह गलत है, किस मानक की पॉलीथिन रखें, पहले यह बताएं, एक रुपए भी नहीं दूंगा।

अधिकारी : जुर्माना तो देना पड़ेगा? बार-बार बता तो रहे हैं? क्या एक-एक दुकानदार से कहें।

दुकानदार : पॉलीथिन हम घर पर नहीं बनाते। पहले निर्माता को क्यों नहीं पकड़ते।

आखिर में निगम अमले ने 1500 रुपए की रसीद काटी।

भांग घोटा की दुकान पर कार्रवाई करते निगम अिधकारी।

उद्योगपुरी आगर रोड, दोपहर 1.15 बजे

अधिकारी : पॉलीथिन मानक नहीं है?

उद्योगपति : हम तो मानक उपयोग करते हैं।

अधिकारी : 51 माइक्रॉन से कम की है?

उद्योगपति : हमें नहीं पता, आगे से इसका पूरा ध्यान रखेंगे।

अधिकारी : 20 हजार जुर्माना लगेगा?

उद्योगपति : ज्यादा है, क्या कोई टारगेट है।

अमले ने 15 हजार रुपए की रसीद काटी।

सांदीपनि चौराहा, दोपहर 12.30 बजे

अधिकारी : निजी अस्पताल के पीछे जाकर रुके। बोले- इतना कचरा क्यों जमा है।

मैनेजर : हम बायो मेडिकल वेस्ट के लिए इंदौर की फर्म को तीन लाख रुपए देते हैं।

अधिकारी : फिर यह कचरा यहां क्या कर रहा है? इसे निगम को क्यों नहीं देते?

मैनेजर : निगम को फोन लगाया लेकिन कोई नहीं आता।

अधिकारी : 20 हजार रुपए का जुर्माना लगेगा।

मैनेजर : आप सर से बात करो, फिर सभी कैबिन में चले गए। चर्चा के बाद निगम अधिकारियों ने 10 हजार रुपए की रसीद काटी।

X
Ujjain News - mp news not a micrometer touched and said polyethylene less than 51 microns demanded 15 thousand fines went by 1500
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना