पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Ujjain News Mp News On The Inscription On The Inscription Of The Minister The Politics Of Name On The Inscription Was Implied By The Corporation Yadav Insisted On The Handwriting

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मंत्री के दौरे मंे शिलालेख पर नाम की राजनीति पार्षद यादव अड़े तो निगम को हाथोंहाथ लगाना पड़ा उनके नाम वाला शिलालेख

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगरीय विकास और आवास मंत्री जयवर्धनसिंह के सामने कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस बात पर आपत्ति ली कि हमारे वार्ड में लोकार्पण-शिलान्यास किया जाते हैं लेकिन उन पर स्थानीय पार्षद का नाम नहीं लिखा जाता। इसे लेकर भाजपा-कांग्रेस पार्षद आमने-सामने भी हुए। कुछ समय तक विवाद की स्थिति भी बनी। जिसे खुद जयवर्धनसिंह ने खत्म कराया।

दरअसल नगर निगम परिसर में स्वीमिंग पूल के दूसरे फेस का भूमिपूजन करने गए मंत्री सिंह के आने से पहले शिलान्यास पत्थर में बदलाव करना पड़ा। पहले जो शिलान्यास पत्थर लगाया गया था उस पर न तो स्थानीय पार्षद आजाद यादव का नाम था न ही लोक निर्माण विभाग प्रभारी का। इसेे लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया। जिसके बाद ताबड़तोड़ शिलान्यास पत्थर पर लोक निर्माण विभाग प्रभारी सत्यनारायण चौहान और पार्षद यादव के नाम लिखे गए। यह सब मंत्री सिंह के निगम परिसर पहुंचने से पहले हुआ लेकिन विरोध के स्वर फिर भी नहीं थमे। भूमिपूजन करने के बाद जयवर्धनसिंह को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रोका और इस बात को लेकर आक्रोश जताया। इस दौरान महापौर मीना जोनवाल, नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र वशिष्ठ, एमआईसी सदस्य राधेश्याम वर्मा, नीलूरानी खत्री भी मौजूद थी। मंत्री ने कार्यकर्ताओं का समझाते हुए कहा-अब ऐसा नहीं होगा। मैंने आदेश दिए हैं पार्षद कोई भी हो, अगर वह कोई बात कहता है या शिकायत करता है तो उस पर कार्रवाई करें।

सर्किट हाउस पर लगाए भाजपा जिंदाबाद के नारे
सर्किट हाउस पर जयवर्धनसिंह के साथ कुछ लोगों ने भाजपा जिंदाबाद के नारे भी लगाए। जब मंत्री ने कार्यकर्ताओं से पूछा तो उन्होंने कहा-भाजपा कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल हुए हैं। गफलत में वे भाजपा जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं।

सिंहस्थ के किसी घोटाले को क्लीन चिट नहीं दी
जयवर्धनसिंह ने कहा सिंहस्थ से जुड़े किसी घोटाले को क्लीन चिट देने का सवाल ही नहीं उठता। फिर चाहे टंकी घोटाला हो या एलईडी घोटाला। सभी मामलों में जांच कराई जाएगी। जो भी इस मामले में दोषी होंगे उन पर कार्रवाई कराएंगे।

भ्रष्टाचारी कर्मचारियों पर कार्रवाई करें
महाकाल के शंख द्वार के सामने जब मंत्री भूमिपूजन कर रहे थे उस दौरान शहर अध्यक्ष महेश सोनी ने िशकायत दर्ज कराई कि निगम में भ्रष्टाचारी कर्मचारियों पर कार्रवाई नहीं होती। ऐसे भी कर्मचारी हैं जिन पर लोकायुक्त जांच चल रही है। इसी के चलते उनका स्थानांतरण भी हो गया था लेकिन वे कुछ ही दिनों में वापस आ गए। ऐसे कर्मचारियों के कारण सरकार की छवि खराब होती है। मंत्री ने कहा-मुझे भी िशकायत मिली है। इस संबंध में कार्रवाई कराएंगे।

स्वच्छता अवार्ड 33-33-33 फीसदी मार्किंग
जयवर्धनसिंह ने कहा-स्वच्छता के लिए जो अवार्ड मिला है। उसमें 33 फीसदी लोगों, 33 फीसदी अधिकारियों और 33 फीसदी जनप्रतिनिधियों की भागीदारी है।

पहले चित्र में पार्षद आजाद यादव का नाम लिखा शिलालेख से भूमिपूजन करते मंत्री। दूसरे चित्र में वह शिलालेख जिस पर नाम नहीं था।

इन कामों का भूमिपूजन
महाकाल रूद्रसागर इंटिग्रेटेड डेवलेपमेंट एप्रोच (मृदा-फेज-1) लागत-96.97 करोड़ नगर निगम परिसर में स्वीमिंग पूल का दूसरा फेज। लागत-17.59 करोड़ इंटिग्रेडेट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम। लागत-28.61 करोड़ मल्टीलेवल कार पार्किंग। लागत-27.19 करोड़ वार्ड 15 में ओवर हेड टैंक। लागत-19.61 करोड़ वार्ड 4 में आेवर हेड टैंक। लागत-14.85 करोड़ रेलवे भूमि पर नाला निर्माण। लागत-49.46 लाख

इन कामों का लोकार्पण : 550 किलोवॉट सोलर पैनल। लागत-3.86 करोड़ पाइप लाइन वर्क। लागत-1.35 करोड़ शिप्रा हरितिमा प्राेजेक्ट। लागत-3.82 करोड़ हरिफाटक के नीचे नंदी प्रतिमा की स्थापना। लागत-60 लाख इंडस अस्पताल से शिव सिटी तक सीमेंट कांक्रीट मार्ग।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें