• Hindi News
  • Mp
  • Ujjain
  • Ujjain News mp news parshwanath city was handover despite incomplete development on the report of municipal corporation officers shrivastava jain and jadhav

नगर निगम अफसर श्रीवास्तव, जैन व जाधव की रिपोर्ट पर अधूरे विकास के बावजूद हैंडओवर हुई थी पार्श्वनाथ सिटी

Ujjain News - नगर निगम परिषद नेे 16 जनवरी को सम्मेलन में पार्श्वनाथ सिटी के डेवलपर्स के खिलाफ एफआईआर का निर्णय लिया था। इसके...

Feb 15, 2020, 09:41 AM IST
Ujjain News - mp news parshwanath city was handover despite incomplete development on the report of municipal corporation officers shrivastava jain and jadhav

नगर निगम परिषद नेे 16 जनवरी को सम्मेलन में पार्श्वनाथ सिटी के डेवलपर्स के खिलाफ एफआईआर का निर्णय लिया था। इसके अलावा निगम जिन अफसरों ने

शर्तों का पालन किए बिना एनआईसी जारी कर उन पर भी एफआईआर दर्ज करवाई जाना थी। परिषद के निर्णय के 29 दिन बाद भी निगम ने कोई कार्रवाई नहीं की है। इससे रहवासियों में असंतोष है।

उनका कहना है निगम अफसर परिषद के निर्णय का पालन नहीं करवा रहे हैं। निगम आयुक्त का कहना है कि उन्हें परिषद के मिनिट्स आने का इंतजार था, जो आ चुके हैं। मामले में डेवलपर के खिलाफ थाने में आवेदन दिया है जबकि विभाग के अफसरों के खिलाफ विभागीय जांच प्रस्तावित की है। एक सप्ताह में कार्रवाई करेंगे। भास्कर ने निगम के उन जिम्मेदारों को ढूंढा जिन्होंने मौका मुआयना किए बगैर पूर्णता प्रमाण पत्र दे दिया। कॉलोनी को दो बार में वर्ष 2010 और 2014 में पूर्णता प्रमाण पत्र दिया गया। इस्को पाइप फैक्टरी की जमीन पर 2007 में नई कॉलोनी बसाई जाने की शुरुआत हुई। यहां बिजली कनेक्शन और पीएचई पाइप लाइन से कनेक्शन की व्यवस्था नहीं हो पाई है। इस कारण रहवासी आए दिन इन समस्याओं से जूझते हैं। यहां 150 से ज्यादा परिवार रहते हैं।

डेवलपर के खिलाफ आवेदन दिया है


सिर्फ बंधक प्लॉट बेचने की प्रक्रिया

{बंधक प्लॉट बेचने के लिए सहायक आयुक्त सुबोध जैन को दायित्व सौंपा। उन्होंने रिपोर्ट उपायुक्त सुनील शाह को दी है। अफसरों का कहना है बंधक प्लॉट स्कूल और शॉपिंग सेंटर के लिए है। एेसे में उनके लिए रजिस्ट्रार से रिपोर्ट मंगवाई है।

{जोन 6 की बैठक में पार्षद संतोष व्यास ने आपत्ति ली कि विकास शुल्क के नाम पर हर प्लॉट खरीदार सेे वसूले गए रुपयों से विकास क्यों नहीं कराया। जोन से इस आशय का प्रस्ताव निगमायुक्त को भेजा है।

{पानी की किल्लत को देखते हुए निगम आयुक्त ने संबंधित जोन और पीएचई अफसरों को गर्मी के पहले पीएचई की पाइप लाइन से कनेक्शन जोड़ने के निर्देश दिए हैं।

इन समस्याओं से जूझ रहे रहवासी

सड़कें : कॉलोनाइजर ने शुरुआत में जो सड़कें बनाई थी वह अब खुद गई हैं।

लाइट : एक ट्रांसफाॅर्मर भी नहीं लगाया। शंकरपुर ग्रिड से लाइन लेकर सब स्टेशन बनाना था

पानी : दो टंकी, दो संपवेल हैं लेकिन बिजली कनेक्शन नहीं होने से भरा नहीं जा
सकता है।

एग्रीमेंट में फंसा निगम


पार्श्वनाथ सिटी रहवासी सोसायटी अध्यक्ष मनीष शर्मा ने निगमायुक्त से आग्रह किया है पार्श्वनाथ सिटी को अफसरों ने जो पूर्णता प्रमाण पत्र दिया है, उसे रद्द करें। इसके बाद ही डेवलपर पर एफआईआर दर्ज करें। 12 जुलाई 2018 को हुए एग्रीमेंट में लिखा है कि एक साल में डेवलपर काम नहीं करता है तो निगम जमीन बेचकर काम करवाएगा।


जिम्मेदार अब बोले- मामला बहुत पुराना है, कुछ याद नहीं

{वर्ष 2010 में डी-सेक्टर की अनुमति के वक्त निगमायुक्त चंद्रमौली शुक्ला थे

अरुण जैन, कॉलोनी सेल प्रभारी

जिम्मेदारी : प्रकाश विभाग की रिपोर्ट का आंकलन करने के बाद पूर्णता प्रमाण पत्र देना था।

वर्तमान दायित्व : कॉलोनी सेल प्रभारी

बोले : प्रकाश विभाग की रिपोर्ट पर प्रमाण पत्र दिया।

जितेंद्र श्रीवास्तव, प्रकाश विभाग प्रभारी

जिम्मेदारी : बिजली के खंभे लगाने के अलावा उन पर स्ट्रीट लाइट लगाने की रिपोर्ट देना थी।

वर्तमान दायित्व : जोन 6 में उपयंत्री

अब बोले : मीटिंग में हूं, बाद में चर्चा करेंगे

जानें ऐसी है पार्श्वनाथ सिटी


2007 में बनना शुरू

2014 में
पूर्णता मिली


105 एकड़ जमीन में

1086
प्लॉट हैं


179
निवासरत


95
मकान बन रहे


48
बगीचे


अब निगम का नया बहाना, आयुक्त बोले- पहले विभागीय जांच करांएगे

देवास रोड की पार्श्वनाथ सिटी जहां पानी की टंकियां तो हैं लेकिन बिजली के लिए ग्रिड नहीं लग पाई।

{2014 में कॉलोनी को पूर्णता प्रमाणपत्र के समय निगमायुक्त विवेक श्रोत्रिय थे

पीके जाधव, कॉलोनी सेल प्रभारी

जिम्मेदारी : कॉलोनी में प्रकाश विभाग का काम हो गया, इसे के बाद पूर्णता प्रमाण पत्र देना था।

वर्तमान दायित्व : एनवीडीए इंदौर में इंजीनियर।

बोले : पुराना मामला है, मुझे कुछ याद नहीं।

जितेंद्र श्रीवास्तव, प्रकाश विभाग प्रभारी

जिम्मेदारी : पूरी कॉलोनी में बिजली के खंभे लगे या नहीं उन पर स्ट्रीट लाइट की रिपोर्ट देना थी।

वर्तमान दायित्व : जोन 6 में उपयंत्री

अब बोले : मीटिंग में हूं, बाद में चर्चा करूंगा।

X
Ujjain News - mp news parshwanath city was handover despite incomplete development on the report of municipal corporation officers shrivastava jain and jadhav
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना