पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Ujjain News Mp News The Literature Of The Rashtrapati Is Guiding The Society Even Today Secret

राष्ट्रकवि का साहित्य आज भी समाज का मार्गदर्शन कर रहा- गुप्त

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राष्ट्रकवि गुप्त की जयंती अवसर पर कार्यक्रम में मौजूद अतिथि।

उज्जैन | राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की 133वीं जयंती गहोई वैश्य समाज ने मनाई। इस अवसर पर अतिथि शिक्षाविद् इंदुप्रकाश गुप्त ने कहा गुप्तजी का साहित्य आज भी समाज का मार्गदर्शन कर रहा है। सभी समाज बंधुओं को गुप्तजी के साहित्य का अध्ययन करना चाहिए।

अध्यक्षीय उद््बोधन में समाज अध्यक्ष रामप्रकाश गुप्ता ने गुप्तजी को समाज का गौरव निरूपित किया। अनिवी कनकने ने गणेश वंदना व नृत्यांजलि प्रस्तुत की। डॉ. मंजु गुप्ता ने राष्ट्रकवि गुप्त के व्यक्तित्व व कृतित्व पर उद्बोधन दिया। जयंती समारोह में सेवानिवृत्त चिकित्सक डॉ. विनोद गुप्ता का सम्मान किया गया। इस अवसर पर गायन, नृत्य, भाषण, चेयर रेस, चम्मच रेस प्रतियोगिताएं हुईं। विजेताओं को प्रमाण-पत्र व पुरस्कार दिए गए। संचालन डॉ. राजेंद्रप्रकाश गुप्त ने किया। आभार आनंद गुप्ता ने माना। एनके घुरा, अनिल सुहाने, सुमन कनकने, डॉ. शशि गुप्ता, एसके गुप्ता, हृदेश गुप्ता, मनीष गुप्ता, सुभाष गुप्ता मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...