श्रीकृष्ण के पर्यावरण संदेश को हमने भुलाया इसलिए बढ़ा संकट

Ujjain News - जयसिंहपुरा क्षेत्र स्थित चारधाम मंदिर सत्संग हॉल में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में शनिवार शाम श्रीकृष्ण...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:35 AM IST
Ujjain News - mp news we have forgotten the message of shri krishna
जयसिंहपुरा क्षेत्र स्थित चारधाम मंदिर सत्संग हॉल में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में शनिवार शाम श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की धूम मची। हर्षोल्लास से भगवान का जन्मोत्सव मनाने के बाद कथा व्यास महामंडलेश्वर स्वामी शांतिस्वरूपानंद महाराज ने कहा- श्रीकृष्ण ने हमेशा पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। वे प्रकृति के निकट रहे। जल, जंगल और गो-ग्वाल के माध्यम से वे प्रकृति के साथ जीने की सीख देते रहे। हमने उनकी लीलाओं का मर्म भुला दिया इसलिए आज पर्यावरण संकट से जूझ रहे हैं।

गुरु पूर्णिमा उत्सव पर आयोजित भागवत कथा के चौथे दिन स्वामीजी ने श्रद्धालु श्रोताओं को पानी बचाने, पौधे लगाने, गोसेवा करने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि संसार में विनाशकारी स्थितियां बन रही हैं क्योंकि मनुष्य प्रकृति से दूर हो रहा है। हमारी संस्कृति प्रकृति की पूजा करती आई है, इसलिए सबसे उत्तम है। स्वामीजी ने कहा जब-जब पृथ्वी पर असुरों का भार बढ़ता है तब-तब ईश्वर मनुष्य अवतार में प्रकट होकर भक्तों का उद्धार करते हैं। यह बात रामायण और गीता दोनों में भी कही गई है। चारधाम मंदिर के प्रबंधक पं. रामलखन शर्मा ने बताया कथा के बीच महाराज ने भजन भी सुनाए।

सत्संग प्रांगण में नंद बाबा बने ब्रजेश पारेका टोकरी में कृष्ण बने छोटे से बालक वासु को लेकर आए तो भक्तों ने उन पर पुष्प की वर्षा की। स्वामीजी ने व्यासपीठ से बालक कृष्ण को गोद में लेकर खिलाया। नंद के घर आनंद भयो जय-कन्हैया लाल की के जयकारे गूंजने लगे। कथा के बीच महाराज ने कहा बिना सत्संग के हरि मिलन संभव नहीं है। इसलिए सत्संग कथा में जरूर आएं। कथा के समापन पर आरती कर माखन-मिश्री की प्रसादी वितरित की गई। रविवार को कथा में गोरधन पूजा होगी व 56 भाेग लगेगा। कथा सुनने व गुरु पूर्णिमा उत्सव में शामिल हाेने मप्र ही नहीं बंगाल, यूपी आदि राज्यों से भी स्वामीजी के भक्तगण यहां आए हैं।

X
Ujjain News - mp news we have forgotten the message of shri krishna
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना