जिसे हम कचरा कहते हैं वो भी संसाधन है- अहिरवार

Ujjain News - इंजीनियरिंग कॉलेज में शुक्रवार को स्वच्छ भारत-उन्नत भारत एवं प्लास्टिक प्रतिबंध जागरूकता अभियान अंतर्गत...

Oct 12, 2019, 09:35 AM IST
इंजीनियरिंग कॉलेज में शुक्रवार को स्वच्छ भारत-उन्नत भारत एवं प्लास्टिक प्रतिबंध जागरूकता अभियान अंतर्गत कार्यक्रम हुआ। कॉलेज के सेमिनार हॉल में सुबह उद्घाटन हुआ। अतिथि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय उज्जैन के निदेशक विजय कुमार अहिरवार थे। अध्यक्षता कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डॉ. अतुल स्थापक ने की।

कार्यक्रम में अहिरवार ने कहा हम जिसे कचरा कहते हैं, वो सब भी एक प्रकार का संसाधन है लेकिन वो संसाधन गलत जगह पर होने से उसका कोई उपयोग नहीं है और उसे कचरा समझा जाता है। यदि हम उसे सही स्थान तक पहुंचा दे तो उसका या तो सीधे इस्तेमाल हो सकता है या फिर पुनर्चक्रण द्वारा उसे उपयोगी बनाया जा सकता है। कार्यक्रम समन्वय डॉ. जगदीश पलसानिया ने प्लास्टिक उपयोग के दुष्प्रभाव एवं निदान विषय पर व्याख्यान दिया। वहीं पर्णिका सिंह राय ने स्वस्थ तन तथा स्वस्थ मन हेतु आहार, विचार, व्यवहार एवं आचरण में सुधार लाकर उसे प्रकृति के साथ जोड़ने की जरूरत पर बल दिया।

कार्यक्रम में कबाड़ा व्यवसायी रोहित जायसवाल का सम्मान भी किया गया। जायसवाल ने बताया कि पुराना कपड़ा, रबर, प्लास्टिक, रद्दी के अलावा मनुष्य के बाल, बचे खाद्य पदार्थ से लेकर हर वस्तु बेची जा सकती है। जरूरत सिर्फ उसे सही हाथों में पहुंचाने की है। संचालन डॉ. अप्रतुलचंद्र शुक्ला ने किया। आभार प्रो. पराग अग्रवाल ने माना। कार्यक्रम में प्लास्टिक के स्थान पर कपड़े के बैनर लगवाए गए। प्लास्टिक की बोतल की जगह तांबे के कलश, फूल माला की जगह पौधे देकर अतिथि स्वागत, पत्तों के दोने में नाश्ता, स्टील के ग्लास में चाय जैसे प्रयोग भी किए गए।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना