--Advertisement--

तहसीलदार विदिशा अटैच वकीलों का धरना खत्म

सिरोंज| 22 फरवरी से चल रही अभिभाषकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल शनिवार को खत्म हो गई। जिला प्रशासन ने तहसीलदार...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:45 AM IST
सिरोंज| 22 फरवरी से चल रही अभिभाषकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल शनिवार को खत्म हो गई। जिला प्रशासन ने तहसीलदार शत्रुघ्न सिंह चौहान को विदिशा अटैच कर लिया है। एसडीएम बृजेश शर्मा ने धरना स्थल पर पहुंच कर वकीलों को तहसीलदार के अटैचमेंट की जानकारी देकर धरना समाप्त करवाया।

सिरोंज तहसीलदार शत्रुघ्न सिंह चौहान के मनमाने रवैये के विरोध में क्षेत्र के अभिभाषक संघ द्वारा उनके स्थानांतरण की मांग की जा रही थी। जब आवेदन और ज्ञापन से मांग पूरी नहीं हुई तो अभिभाषकों ने 22 फरवरी से तहसील कार्यालय के सामने अनिश्चितकालीन धरना और क्रमिक भूख हड़ताल शुरू कर दी थी। इस धरने के समर्थन में जिले भर के अभिभाषकों ने भी ज्ञापन दिया। क्षेत्र के भाजपा और कांग्रेस संगठन के साथ ही विधायक गोवर्धन उपाध्याय, नपाध्यक्ष उर्मिला यादव, जनपद अध्यक्ष जितेन्द्र बघेल तथा मार्केटिंग अध्यक्ष कैलाश शर्मा ने भी धरने का समर्थन करते हुए कलेक्टर से तहसीलदार के स्थानांतरण की मांग की थी। एक मार्च को सिरोंज आए कलेक्टर अनिल सुचारी ने रेस्ट हाउस में वकीलों के प्रतिनिधि मंडल से चर्चा की। बावजूद इसके वकील तहसीलदार के स्थानांतरण की मांग पर ही अड़े रहे। इसी बीच वकीलों ने 5 मार्च को जिला प्रशासन का पिंड दान करने तथा 7 मार्च को सिरांेज बंद करने की चेतावनी भी प्रशासन को दे दी। यह जानकारी मिलते ही वकीलों ने एक-दूसरे को बधाई देते हुए धरना स्थल पर ही होली मनाई। इस संबंध में जानकारी देते हुए एसडीएम बृजेश शर्मा ने बताया कि तहसीलदार को विदिशा अटैच किया गया है। उनके स्थान पर फिलहाल नायब तहसीलदार एनएस परमार को तहसीलदार का चार्ज सौंपा गया है।