विदिशा

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Vidisha News
  • 5 मिनट देरी से परीक्षार्थी पहुंचे केंद्र गिड़गिड़ाए लेकिन नहीं दिया प्रवेश
--Advertisement--

5 मिनट देरी से परीक्षार्थी पहुंचे केंद्र गिड़गिड़ाए लेकिन नहीं दिया प्रवेश

हायर सेकंडरी .की बोर्ड परीक्षाएं गुरुवार से शुरू हो गईं। पहला पेपर विशिष्ट हिंदी का रहा। नकल रोकने के लिए इस बार...

Danik Bhaskar

Mar 02, 2018, 06:05 AM IST
हायर सेकंडरी .की बोर्ड परीक्षाएं गुरुवार से शुरू हो गईं। पहला पेपर विशिष्ट हिंदी का रहा। नकल रोकने के लिए इस बार सख्त इंतजाम किए गए। परीक्षार्थियों के जूते-मोजे तक उतरवा लिए गए। वहीं परीक्षा कक्ष में ड्यूटी पर लगे शिक्षकों के मोबाइल भी जमा कर सील किए गए। यही वजह थी कि परीक्षा शुरू होने के पहले छात्र-छात्राओं में घबराहट देखी गई। लेकिन पेपर देखते ही घबराहट उत्साह में बदल गई। जिले के 73 केंद्रों पर हायर सेकंडरी की परीक्षा हुई। पहले पेपर में 453 छात्र-छात्राएं अनुपस्थित रहे। बरईपुरा स्कूल के परीक्षा केंद्र में निर्धारित समय 9 बजे के 5 मिनट छात्रों को प्रवेश नहीं दिया गया। इस वजह से छात्र परीक्षा नहीं दे पाया। परीक्षा नहीं देने से नाराज छात्र ने अपने परिजनों को केंद्र पर बुला लिया। केंद्र प्रभारी के सामने छात्र और परिजन गिड़गिड़ाते रहे लेकिन इसके बाद भी प्रवेश नहीं दिया गया। छात्र का कहना है कि वह सिर्फ पांच मिनट लेट हुआ था लेकिन आधा घंटे तक ड्यूटी पर तैनात शिक्षक इधर-उधर घुमाते रहे।

पहले दिन 453 रहे अनुपस्थित, जूते-मोजे भी उतरवाए, 3 स्तरीय तलाशी

12 हजार 92 विद्यार्थियों ने दी केंद्र में परीक्षा

डीईओ एचएन नेमा ने बताया कि इस परीक्षा के लिए 12 हजार 545 परीक्षार्थी दर्ज थे। इनमें से 12 हजार 92 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी और 453 अनुपस्थित रहे। परीक्षा सुबह 9 से 12 बजे तक परीक्षा चली। परीक्षा जिले के 73 केंद्रों पर हुई।

केंद्रों के गेट पर ही तलाशी में निकल वाली संदिग्ध सामग्री

केंद्रों पर आने वाले परीक्षार्थियों की दो स्तर पर चेकिंग की गई। पहले जहां परीक्षा कक्ष में पहुंचने से गेट पर छात्र-छात्राओं की तलाशी लेकर संदिग्ध सामग्रियों की जांच की गई। कक्ष में प्रवेश के दौरान भी जांच की गई। केंद्रों पर कई परीक्षार्थी ऐसे मिले जो मोबाइल फोन, स्मार्ट घड़ी या गुटखा-पाउच लेकर पहुंचे थे। उक्त सामग्रियां परीक्षा केंद्रों के बाहर रखवाई गईं।

बोर्ड परीक्षाएं गुरुवार से शुरू हो गईं। देरी पर छात्रों को नहीं देने दी परीक्षा।

पूरे जिले में एक भी नकल प्रकरण नहीं बना

हायर सेकंडरी परीक्षा के पहले पेपर में जिले में एक भी नकल प्रकरण नहीं बना। जिले में 22 संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों पर विशेष निगरानी रखी गई। इनमें विदिशा शहर में ही उत्कृष्ट स्कूल, एमएलबी स्कूल, शेरपुरा स्कूल सहित निजी स्कूलों के परीक्षा केंद्र संवेदनशील घोषित किए गए हैं। इन परीक्षा केंद्रों पर लगातार प्रेक्षक दल सहित पुलिस अधिकारी दौरा करते रहे।

निर्भया टीम ने बाहर खड़े युवाओं को खदेड़ा

इस बार बाेर्ड की परीक्षा में काफी सख्त इंतजाम किए गए। हर केंद्र पर पुलिसकर्मियों की तैनाती की ही गई थी। इसके अलावा पेट्रोलिंग व निर्भया टीम की भी ड्यूटी लगाई थी। पेट्रोलिंग वाहन से पुलिस अधिकारी केंद्रों का सतत निरीक्षण करते हुए नजर आए। इसके अलावा निर्भया टीम परीक्षा केंद्रों के बाहर खड़े युवकों व लड़कों पर नजर रखी हुई थी। निर्भया टीम ने परीक्षा केंद्रों के बाहर खड़े युवाओं को डंडे से तक खदेड़ा।

Click to listen..