विदिशा

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Vidisha News
  • 11 दिन में 59 केंद्रों पर खरीदा 19.3 क्विंटल गेहूं, चना मसूर के भंडारण के लिए गोदामों की मैपिंग शुरू
--Advertisement--

11 दिन में 59 केंद्रों पर खरीदा 19.3 क्विंटल गेहूं, चना मसूर के भंडारण के लिए गोदामों की मैपिंग शुरू

विदिशा| समर्थन मूल्य पर 20 मार्च से गेहूं खरीदी शुरू हो चुकी है पंजीकृत 54 हजार किसानों में से 2600 किसान अब तक अपनी उपज...

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 06:05 AM IST
विदिशा| समर्थन मूल्य पर 20 मार्च से गेहूं खरीदी शुरू हो चुकी है पंजीकृत 54 हजार किसानों में से 2600 किसान अब तक अपनी उपज बेच चुके हैं। 137 में से 59 केन्द्रों पर अभी तक 19.3 क्विंटल की खरीदी हो चुकी है। इस बार खरीदी का लक्ष्य 3.5 मीट्रिक टन खरीदी का लक्ष्य है। 10 अप्रैल से जिले में समर्थन मूल्य पर चना मसूर की खरीदी शुरू होना है। वर्तमान में गेहूं खरीदी के लिए तो जिला प्रशासन के पास पर्याप्त इंतजाम हैं लेकिन बाद में परेशानी न पड़े इसलिए प्रशासन 500 एमटी क्षमता के गोदामों की मैपिंग में जुट गया है।

भंडारण का विकल्प... विदिशा मुख्यालय में साइलो गोदाम पर 50 हजार मीट्रिक टन का भंडारण कर सकते हैं

19.3

क्विंटल खरीदी हो चुकी है विदिशा जिले में गेहूं की

इंफो न्यूज

चना, मसूर और सरसों के 81 हजार रजिस्ट्रेशन : अब तक गेहूं खरीदी होती थी जिसे रखने के लिए ही इंतजाम नहीं हो पाता था ऐसे में चना, मसूर और सरसों की खरीदी से समस्या बढ़ेगी। 10 अप्रैल से इनकी खरीदी शुरू होगी। 81 हजार किसान अपना पंजीयन करा चुके हैं।

इंतजाम क्या: जिला प्रशासन ने सायलाे बैग को तैयार कर लिया है। केंद्रों पर ही गेहूं को सायलो बैग में भरा जा रहा है। जरूरत पड़ने पर गोदा किराए पर लेंगे।

पिछले साल कितनी खरीदी हुई थी गेहूं की: विदिशा में 3 लाख मीट्रिक टन की खरीदी हुई थी।

पिछले साल खरीदी केंद्रों के क्या हाल थे: खरीदी केंद्रों पर पेयजल, छांव, समय पर तुलाई न होना जैसी समस्याएं देखने को मिली थीं।

इस साल क्या हाल हैं: अभी खरीदी शुरुआती दौर में है। कई केंद्रों पर किसानों को तुलाई में देरी व अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

बड़ी समस्या: 10 अप्रैल से चना मसूर और सरसों की खरीदी शुरू हो जाएगी। जगह कम होने से इनके भंडारण की समस्या होगी। परिवहन के लिए ठेकेदार न मिलना भी समस्या है।

09 हजार एमटी गेहूं खुले में रहेगा, 7 िवकासखंड हैं जिले में

137

केंद्रों में 59 पर खरीदी शुरू हो गई

54

हजार किसानों ने कराया पंजीयन

जितनी जगह उतनी ही खरीदी: जिले में 3.5 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी होगी, रखने की जगह भी इतनी है। चना-मसूर की खरीदी तक परिवहन हो जाएगा।

Click to listen..