• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Vidisha News
  • सायलो भरने के बाद भी किसान गेहूं लेकर पहुंचे, खरीदी नहीं होने पर की नारेबाजी
--Advertisement--

सायलो भरने के बाद भी किसान गेहूं लेकर पहुंचे, खरीदी नहीं होने पर की नारेबाजी

सायलो प्लांट पर गेहूं बेचने आए किसानों को निराश होकर लौटना पड़ा। सोमवार को करीब 150 ट्रालियां लाइन में लगी रहीं। बाद...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 05:15 AM IST
सायलो प्लांट पर गेहूं बेचने आए किसानों को निराश होकर लौटना पड़ा। सोमवार को करीब 150 ट्रालियां लाइन में लगी रहीं। बाद में किसानों को बताया कि प्लांट पर अब गेहूं नहीं ताैला जाएगा। इससे किसान बेहद परेशान हुए। नाराज किसानों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। किसानाें का आरोप था कि प्रशासन सही तैयारियां नहीं की। इस वजह से किसानों को भटकना पड़ा। सायलो प्लांट की क्षमता 40 हजार 200 मीट्रिक टन है। 14 अप्रैल शनिवार की रात में ही सायलो में गेहूं का भंडारण क्षमता के हिसाब से पूरा हो गया था। यहां 17 सोसायटी के किसानों को गेहूं तौला गया। करीब 5 हजार किसानों का गेहूं खरीदना था लेकिन 2300 किसानों के गेहूं से ही सायलो की क्षमता के हिसाब से भंडारण हो गया। जिला आपूर्ति अधिकारी मोहन मारू ने बताया कि अब शनिवार से संबंधित सोसायटियों में किसानों का गेहूं तौला जाएगा। भाटनी के जसपाल मीना ने बताया कि एक दिन पहले आए थे लेकिन सोमवार को पता चला कि गेहूं नहीं तौला जाएगा। जीवाजीपुर के किसान खुमान पाल भी अपनी ट्राली लेकर आए थे। तो सुनकर बहुत निराश हुए।