--Advertisement--

देश का सबसे बड़ा समूह है एनसीसी: ब्रिग्रेडियर

एनसीसी देश का सबसे बड़ा समूह है जिसमें 20 लाख कैडेट है। पुलिस एवं सेना से भी अधिक जिनकी संख्या है। भारत की 70 प्रतिशत...

Danik Bhaskar | Jun 28, 2018, 05:45 AM IST
एनसीसी देश का सबसे बड़ा समूह है जिसमें 20 लाख कैडेट है। पुलिस एवं सेना से भी अधिक जिनकी संख्या है। भारत की 70 प्रतिशत आबादी 35 वर्ष से कम है। इसलिए देश सबसे युवा देश है। यह बात राष्ट्रीय केडेट कोर की 14वीं मप्र बटालियन एनसीसी विदिशा द्वारा सम्राट अशोक अभियांत्रिकीय संस्थान में 27 जून को कैंप का निरीक्षण के समय एनसीसी के ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर अनिल हुड्‌डा ने कही।

उन्होंने कैडेटों को प्रेरित करते हुए कहा कि जीवन में एक लक्ष्य होना चाहिए। लक्ष्य तभी हासिल हो सकता है जब हमारे जीवन में अनुशासन होता है। सफलतम व्यक्तियों में देखे तो एक बात कामन है कि सभी कुछ न कुछ पढ़ते हैं। अत: हमें पढ़ने को अपना शौक बनाना चाहिए। हर कैडेट को पढ़ाई के अलावा अच्छी पुस्तकाें के कम से कम 10 पेज पढ़ना चाहिए। अच्छी किताबें पढ़ना सबसे अच्छी हाबी है। सत्यवती हुड्‌डा ने कैडेटों को ध्यान के महत्व के बारे में बताते हुए कहा कि ध्यान से हमारा विचलित मन शांत होता है। इससे याददाश्त बढ़ती है। ध्यान से हमारे शरीर के सातों चक्र जागृत होते हैं जिससे हमारे शरीर की विकृति ठीक होती है। हम स्वास्थ्य के साथ-साथ हमारे शरीर को एकाग्र करने में सक्षम हो पाते हैं।

कैंप के प्रशासनिक अधिकारी कर्नल पीके सिंह ने कैडेटों को साक्षात्कार का तरीका बताते हुए व्यक्तित्व के विकास एवं आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए उपयोगी जानकारी दी। साथ ही गोल्फ खेल से कैडेटों का परिचय कराते हुए गोल्फ खेलने का तरीका, उसको खेलने में प्रयोग होने वाले वुड या ड्रायवर, आयरन स्टिक, गेंद आदि को प्रदर्शित किया। कैंप के कमान अधिकारी कर्नल बीपी सिंह ने कैंप में हुई गतिविधियों में वालीबाल में विजेता टीएम एसडी एसएटीआई पाेली एस डब्ल्यू में विजेता गर्ल्स कालेज, खो-खो में जेडी में पिपलधार, जेडब्लू में सलैया, रस्साकशी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए।

कार्यक्रम में कैंप कमांडेंट कर्नल बीपी सिंह, प्रशासनिक अधिकारी कर्नल पीके सिंह, सूबेदार मेजर करनैलसिंह, कालेज-स्कूल के एनसीसी अधिकारी कैप्टन मंजु जैन, संजीव माथुर, मनीष छंछर, रामानंद मिश्रा, निधि शर्मा, मौजूद थे।