विदिशा

--Advertisement--

जिले का सबसे कठिन प

उदयगिरी की पथरीली पहाड़ी... जहां मिट्टी की कमी और ढलान है ज्यादा, फिर भी रोजाना 30 मजदूरों ने रोप दिए एक पखवाड़े में 8...

Danik Bhaskar

Jul 09, 2018, 05:55 AM IST
उदयगिरी की पथरीली पहाड़ी... जहां मिट्टी की कमी और ढलान है ज्यादा, फिर भी रोजाना 30 मजदूरों ने रोप दिए एक पखवाड़े में 8 हजार पौधे, लक्ष्य को पाने के लिए सिर्फ 2 हजार पीछे


जिले का सबसे कठिन प्लांटेशन इन दिनों उदयगिरी पहाड़ी पर एक पखवाड़े से चल रहा है। वन विभाग यहां पर करीब 10 हजार पौधे लगा रहा है। अब तक 8 हजार पौधे लगाए भी जा चुके हैं। इस प्लांटेशन में वन विभाग सहित सहयोगी अमले को काफी चुनौतियों आईं हैं।

उदयगिरी की चट्टानी पहाड़ी पर जहां मिट्टी कम होने से पौधे लगाने जगह मुश्किल से मिल पा रही है, वहीं पहाड़ के ढलान की वजह से भी पौधे लगाने में कठिनाई आ रही थी। पर्यटन स्थल के साथ उदयगिरि की खूबसूरती को देखते हुए वन विभाग यहां पर प्लांटेशन कर रहा है। ढलाव की वजह से यहां पर ऐसी प्रजाति के पौधे लगाए जा रहे हैं, जो कि कम पानी में ही पनप सकते हैं। इनमें पीपल, चिरोल और करंज के पौधे लगाए गए हैं। वन संरक्षक एचसी गुप्ता के मुताबिक यह जिले का सबसे कठिन प्लांटेशन है। इसे विभाग का अमला स्थानीय सुनपुरा के मजदूरों के साथ मिलकर जुनून के साथ अंजाम दे रहे हैं। रोजाना 20 से 30 मजदूर और वन विभाग के 6 कर्मचारी इस काम में जुटे हैं। वे रोजाना 400 से 500 पौधे रोप रहे हैं।

उन्होंने बताया कि इन 10 हजार पौधों का संरक्षण भी पूरी जिम्मेदारी के साथ किया जाएगा। इसके लिए विभाग की टीम तो पौधों की निगरानी करेगी ही, वहीं स्थानीय ग्रामीणों को भी जागरुक कर पौधों के संरक्षण के लिए आगे लाया जाएगा।

पीपल, चिरोल और करंज के पौधे लगाए गए हैं, जो कम पानी में भी पनप सके, वन विभाग के 6 कर्मचारी भी जुटे हैं सहयोग करने के लिए , ग्रामीणों को पौधों के संरक्षण के लिए कर रहेे जागरुक

Click to listen..